खोजें
Apr 16, 2018, 11:07 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
एक देश और उसके नागरिक के रूप में यह देखना कितना दुर्भाग्यपूर्ण है कि बलात्कार जैसे घातक अपराध का भी जातीय-धार्मिक विभाजन हो रहा. उन्नाव हो या कठुआ, दिल्ली हो या पटना, निर्भया हो या आसिफा, बेटिया
Apr 09, 2018, 10:09 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
विरोध का यह संस्थागत रूप राष्ट्र के रूप में हमारी पहचान को लेकर बेहद खतरनाक है. संसद का यह पूरा सत्र बिना कामकाज के खत्म हुआ. हम सबको यह समझने की जरूरत है कि देश बचेगा, बचा रहेगा, तभी मिलेगा किसी
May 08, 2016, 6:05 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
भारतीय जनता पार्टी आक्रामक है, न केवल राष्ट्रवाद के मसले पर बल्कि भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी. अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलिकॉप्टर की डील पर इटली की कोर्ट से आए फैसले ने उसे ऐसा हथियार मुहैय
Apr 09, 2016, 10:57 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
मध्य प्रदेश में देश के उच्चतम न्यायालय के माननीय न्यायाधीश एक मंथन शिविर कर रहे हैं, जिसमें समाज के दूसरे हिस्से के लोग भी शिरकत करेंगे. दरअसल, हमारे न्यायिक ढांचे में यह एक नए तरह की पहल है, जि
Mar 04, 2016, 9:13 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
हर साल, सरकार चाहे जिसकी हो, जब भी बजट पेश होता है, लगता है सब कुछ कितना हसीन व अच्छा है. संसद में नेताओं का भाषण, सत्ता पक्ष की तालियां, टीवी चैनलों पर जानकारों की बहसें, अखबारों की हेडिंगे और व्या
Jan 26, 2016, 2:07 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
हर साल छब्बीस जनवरी आती है, और इसके साथ ही देश को अवसर मिलता है, उन लोगों को, स्वतंत्रता सेनानियों को, कर्णधारों को याद करने का, जिनकी बदौलत न केवल हमें आजादी मिली, बल्कि जिनके चलते हमें दुनिया का
Nov 21, 2015, 5:36 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
नीतीश कुमार ने जब पांचवीं बार राजनीतिक रूप से जागरूक कहे जाने वाले सुबे बिहार के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली, तो उनके चेहरे पर वह तेज नहीं था, जो जीत की खुशी का होना चाहिए. लालू के परिवारवाद ने उनके
Oct 13, 2015, 5:10 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
हकीकत यह है कि कानून की नजर में बड़े से बड़े अपराधी का दोष जानने के लिए पुलिस और सतर्कता एजेंसियों द्वारा पूछताछ के लिए उपयोग में लाया जाने वाला 'लाई डिटेक्टर टेस्ट' भी बिना अदालत की अनुमति और
Sep 08, 2015, 1:19 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
यह अब कोई छिपी बात नहीं है कि एक राजनीतिक दल के रूप में भाजपा का अपना कोई अलग वजूद नहीं, सिवाय इसके कि वह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की एक राजनीतिक शाखा भर है. संघ ने लाल कृष्ण आडवाणी को किनारे लगा क
Aug 30, 2015, 12:38 pm    by : जय प्रकाश पाण्डेय
यह कम कमाल की बात नहीं कि पूर्वोत्तर के एक राज्य असम की दसेक साल पहले तक कि एक अनजान सी महिला ने हमारे अब तक के सभ्य कहे जाने वाले समाज की चूलें हिला दी, और देश हतप्रभ होकर देखता रह गया. सोशल फोरम,