Sunday, 17 January 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Aug 15, 2015, 11:29 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
लाल किला से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर खोखले शब्दों के जो बम गोले फेंके, उसकी तपिश से भज-भज मंडली से जुड़े भक्तजन भले ही प्रभावित हों, पर जिन्होंने भी सीधे या ट
Aug 15, 2013, 11:08 am    by : जय प्रकाश पांडेय
आज 'लोक' पर 'तंत्र' हावी है. नेता, राजनेता बन 'सेवक' से 'स्वामी' की मुद्रा में हैं, जिन्होंने सियासत को 'सेवा' की बजाय 'सत्ता' के उस प्रतिष्ठान्न में बदल दिया है, जहां नैतिकता, क