खोजें
May 01, 2015, 3:31 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
देश की राजधानी दिल्ली के दिल जंतर-मंतर पर आम आदमी पार्टी की रैली के दौरान जिस तरह से गजेंद्र सिंह की जान गई, उससे न केवल देश के किसानों की समस्या, आम आदमी की बेचारगी और उसकी किसी भी तरह से कुछ कर ग
Apr 14, 2015, 2:17 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
प्रधानमंत्री जी! छोटे लोगों की जरूरतें भी छोटी होती हैं और वह संतुष्ट भी बहुत कम में हो जाते हैं. बड़े लोगों के लिए आप जो भी करना चाहते हैं करिए, पर छोटों को भूलिए मत...और यह भी मत भूलिए कि जब किसान अ
Mar 24, 2015, 2:07 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
पैसा सिर्फ माध्यम है, न तो साध्य न ही साधन. पैसे से आप अन्न खरीद तो सकते हो पर तभी, जब वह उपजा हो, और उपज के लिए आपको बोना तो अन्न ही पड़ेगा, पैसों की खेती होती नहीं है, हां पैसों के दम पर खेती की और करा
Aug 15, 2014, 12:57 pm    by : जय प्रकाश पांडेय
लाल किले के अपने पहले सम्बोधन में बतौर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईमानदार दिखने, देश के लिए कुछ करने और सरकार को जनता की सक्रिय भागीदारी से जोड़ने के लिए तमाम बातें कहीं. स्वच्छता, सफाई, युवा