Wednesday, 26 February 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Nov 14, 2017, 6:56 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
यह ठीक है कि अमेरिका इस्लामिक स्टेट या बाहर के आतंकियों से निबटने में सक्षम है, पर वह घरेलू हथियार लॉबी के हाथों पड़ गए लोगों की सनक का शिकार होने से कैसे बचेगा. रंगभेदी हिंसा या कहीं भी अचानक ग
Jan 22, 2017, 6:36 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
अमेरिका की पहचान विविधता है. इसे विचारधारा का संशय कहें या ऐतिहासिक बदलाव की घड़ी, पर अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति के रूप में डोनाल्ड ट्रंप के शपथ लेने के साथ ही दुनिया सहम सी गई है. खुद अमेरिकी भ
Nov 11, 2016, 6:13 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
डोनाल्ड ट्रंप अब अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति हैं. वह ट्रंप, जो अमेरिका के सबसे रईस लोगों में से एक हैं, पर जिनकी तुनकमिजाजी को मीडिया में इस तरह प्रचारित किया गया कि उनकी छवि एक खलनायक की स
Jul 18, 2015, 2:32 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
ग्रीस के जिस आर्थिक संकट ने समूचे यूरोप और अमेरिका को हिला रखा है, इसकी असली वजह आखिर क्या है? और भारत पर इस संकट का क्या असर होगा, पर बतौर पत्रकार अपनी तीखी नजर तो थी, पर अपने पाठकों को सरल भाषा मे
Jan 26, 2015, 2:04 am    by : जय प्रकाश पाण्डेय
हम और हमारी मीडिया चाहे जितना मुगालता पाल लें, यह तय है कि अमेरिका की दोस्ती किसी व्यक्ति विशेष से नहीं, बल्कि भारत में कार्यपालिका के उस मुखिया से है, जो उसके लिए मौकों और बाजार के नए द्वार खोल
May 24, 2011, 3:29 am    by : जय प्रकाश पांडेय
काफी छोटा था जब तुलसीदास की यह चौपाई ' समरथ को नहीं दोष गुसाईं ' पढ़ी थी, पर अर्थ न तब समझ में आया था, ना ही अब आता है. मैं शाब्दिक अर्थ की बात नहीं कर रहा. बात हकीकत की है. कौन कमजोर है और कौन सामर्
May 10, 2011, 5:19 am    by : जय प्रकाश पांडेय
अयोध्या के राम जन्म भूमि - बाबरी मस्जिद ढाँचे और अमेरिका के ट्विन टॉवर में क्या एकरूपता है? कितना अजीब और बचकाना सा सवाल है यह, जो वाकई किसी बच्चे ने पूछा था मुझसे. पर इसका जवाब उतना ही कठिन. ये दो
Apr 07, 2011, 7:29 am    by : राधेश्याम तिवारी
अफगानिस्तान से लेकर अरब देशों के घरेलू मामलों में अमेरिका ने जिस तरह अपने को फंसा लिया है, उसको देखते हुए कहा जा सकता है कि विश्व के राष्ट्रपतियों में सबसे अधिक परेशान राष्ट्रपति ओबामा हैं। अ