Friday, 21 September 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
अन्य
  • खबरें
  • लेख
पीएसएलवी-42 ने श्रीहरिकोटा से दो विदेशी उपग्रह अंतरिक्ष में भेजा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Sep 17, 2018
भारत का अंतरिक्ष कार्यक्रम नित नई ऊंचाईयां छू रहा है. इसरो द्वारा रविवार को छोड़े गए दोनों ब्रिटिश सेटेलाइट ('नोवा एसएआर' और 'एस1-4') कक्षा में पहुंच गए। आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा स्थित सतीश धवन स्पेस सेंटर से इसरो ने अपने कैरियर पोलर सेटेलाइट लांच व्हीकल (पीएसएलवी-42) से इन्हें अंतरिक्ष में भेजा। ....  समाचार पढ़ें
सिद्धार्थ गौतम राम बाबा जी ने जनता जनार्दन को दिया आशीर्वाद अमिय पाण्डेय ,  Sep 10, 2018
रामगढ़ महोत्सव के अंतिम दिन पीठाधीश्वर अघोराचार्य बाबा सिद्धार्थ गौतम राम जी ने आशीर्वाद देकर व आशीर्वचन से अपने भक्तों को संबोधित किया.और कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सभी स्थानीय निवासियों जनपदवासियों पुलिस प्रशासन को धन्यवाद दिया.बाबा गौतम राम जी ने कहा कि जो भी बातें वक्ताओं द्वारा कही गयी उसको अमल में लेकर उसपर कार्य करें. ....  समाचार पढ़ें
औघड़ बाबा कीनाराम के गूंज रहल जयकरिया हो भईया, अघोरी दरबार में लागल भारी भीड़ अमिय पाण्डेय ,  Sep 10, 2018
रामगढ़ में संजीवनी देने वाले कुँए पर स्नान करने व पानी पीने वालों की भीड़ लगी रही । ऐसी मान्यता है कि यहां स्नान करने वाला व इस कुएं का पानी पीने वाले रोग मुक्त हो जाते है । बाबा कीनाराम ने अपने हाथ से इस कुएं का निर्माण गोहरे से किया था । इस कुएं में प्रवेश करने के बाद बाबा कीनाराम क्रीं कुंड वाराणसी में निकले थ ....  समाचार पढ़ें
कीनाराम महोत्सव का पहला दिन देश के वरिष्ठ पत्रकार जुटे बाबा के दरबार, बाबा के बारे में जनसमूह को बताया अमिय पाण्डेय ,  Sep 08, 2018
पूरी दुनिया मेअघोर परम्परा के ईष्ट आराध्य प्रणेता अघोराचार्य महाराजश्री बाबा कीनाराम जी का 419 वां तीन दिवसीय जन्मोत्सव समारोह दिनांक 8 सितंबर 2018 को शुरू हुआ। लाखों श्रद्धालुओं, देश दुनिया के बुद्धिजीवियों की उपस्थिति में शुरू हुए इस समारोह में पहले दिन प्रातः कालीन आरती के पश्चात स्थानीय कलाकारों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया और तदुपरांत तीन बजे से सांध्यकालीन गोष्ठी में बुद्धिजीवियों ने अपने विचार रखे। ....  समाचार पढ़ें
जानें कौन थे बाबा कीनाराम? जिनके लिए होता है तीन दिवसीय रामगढ़ महोत्सव अमिय पाण्डेय ,  Sep 08, 2018
बाबा किनाराम उत्तर भारतीय संत परंपरा के एक प्रसिद्ध संत थे, जिनकी यश-सुरभि परवर्ती काल में संपूर्ण भारत में फैल गई। वाराणसी के पास चंदौली जिले के ग्राम रामगढ़ में एक कुलीन रघुवंशी क्षत्रिय परिवार में सन् 1601 ई. में इनका जन्म हुआ था। बचपन से ही इनमें आध्यात्मिक संस्कार अत्यंत प्रबल थे। तत्कालीन रीति के अनुसार बारह वर्षों के अल्प आयु में, इनकी घोर अनिच्छा रहते हुए भी, विवाह कर दिया गया किंतु दो तीन वर्षों बाद द्विरागमन की पूर्व संध्या को इन्होंने हठपूर्वक माँ से माँगकर दूध-भात खाया। ध्यातव्य है कि सनातन धर्म में मृतक संस्कार के बाद दूध-भात एक कर्मकांड है । ....  समाचार पढ़ें
जय बाबा कीनाराम: बाबा के भक्त शेयर करें, शुरू हो रहा तीन दिवसीय रामगढ़ बाबा कीनाराम महोत्सव अमिय पाण्डेय ,  Sep 07, 2018
हर वर्ष की भाति इस वर्ष भी बाबा कीनाराम महोत्सव मनाने की तैयारी पूरी हो गयी है. बाबा कीनाराम महोत्सव पिछले तमाम सालों से रामगढ़ गांव में मनाया जाता है, जहां बाबा का जन्म हुआ, जहां बाबा पले बढ़े. बाबा के भक्तों को इस दिन का इंतजार बेसब्री से रहता है. ....  समाचार पढ़ें
साई पब्लिक स्कूल ने मनाया हॉकी जादूगर मेजर ध्यानचंद का जन्मदिन अमिय पाण्डेय ,  Aug 29, 2018
नगर के कैलाशपुरी स्थित श्री साई पब्लिक सकूल में बुधवार को क्रीड़ा भारती चन्दौली व स्पोर्ट्स एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में खेल प्रतियोगिता आयोजित कर हाकी के जादूगर मेजर ध्यानचन्द का जन्मदिन राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर सुबह 7:30 बजे श्री साइर्ं पब्लिक स्कूल से एक रैली निकाली गयी। रैली को राष्ट्रीय फुटबाल खिलाड़ी चन्द्रजीत सिंह, डॉ अनिल यादव व कुमार नन्दजी ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इसके बाद रैली कैलाशपुरी, रविनगर, पटेलनगर, आर्य समाज मन्दिर व जीटी रोड होते हुए पुन: विद्यालय आकर समाप्त हुयी। तत्पश्चात दोपहर 12 बजे से खेल प्रतियोगिता प्रारम्भ हुयी ....  समाचार पढ़ें
चन्द्रयान-2 जनवरी 2019 में और 2022 तक इसरो द्वारा पहला भारतीय अंतरिक्ष में: डॉ. जितेन्‍द्र सिंह जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 29, 2018
डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि इसरो द्वारा विकसित यह पहला मानव मिशन होगा, हालांकि इससे पहले भी कुछ भारतीय अंतरिक्ष में जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह एक बड़ी उपलब्धि होगी। ....  समाचार पढ़ें
परमाणु ऊर्जा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र की खास भूमिकाः उप राष्ट्रपति जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 26, 2018
उप राष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू ने देश में कैंसर के बढ़ते मामलों पर चिंता व्यक्त की है और इसकी रोकथाम, इलाज और रोग के लक्षण कम करने संबंधी देखरेख कार्यक्रम के लिए कैंसर के कुछ और सस्ते इलाज केन्द्रों की स्थापना करने का आहवान किया है। ....  समाचार पढ़ें
नई दिल्ली में सैक्रेड साउंड वेलनेस कंसर्ट का आयोजन जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 17, 2018
सिंगिंग बाउल्स और गांग बेल्स के माध्यम से ध्वनि द्वारा उपचार (साउंड हीलिंग), आधुनिक समय के एक सबसे शक्तिशाली व असरदार रोगमुक्ति विज्ञान के रूप में उभर रहा है, जो लगभग सभी तरह की चिकित्सकीय समस्याओं को ठीक करता है, चेतना जागृत करता है तथा आध्यात्मिक मार्गदर्शन प्रदान करता है। ....  समाचार पढ़ें
अमित मौर्य ,  Jul 31, 2018
धर्म सत्ता स्थापित करने का गैर राजनीति उपकरण जब -जब और जहां-जहां बना संस्कृत विकृति हो ही गयी ...संस्कृति छद्म और पाखण्ड से परे एक सात्विक परम्परा होती है ...वैदिक युग के बाद त्रेता में राम के नेतृत्व में धर्म और राजनीति का घाल मेल हुआ परिणाम सामने आया ...जर (आधिपत्य ), जोरू (पत्नी ) और जमीन के विवादों का वहिरुत्पाद "आध्यात्म " कहा जाने लगा ... ....  लेख पढ़ें
हम हर समुद्रमंथन में अमृत से ले कर अप्सरा तक निगाह तो रखते हैं पर विष नहीं पीना चाहते अमित मौर्या ,  Jul 26, 2018
श्रावण मास का प्रारम्भ हो गया है हर तरफ ओम नमः शिवाय साल भर शराब मांस का भक्षण करने वाले श्रावण मास में इससे दूर रहते है क्या ढकोसला है क्या इसके बाद शिव आराधना नही करते हो श्रावण मास में शराब व मांस का परित्याग लेकिन कोई सुंदरी मिल जाये तो उससे सम्बन्ध बनाने में नही चूकते जिंदा मांस में पूण्य मिलता है क्या शंकर .हमको आज भी शंकर चाहिए ....  लेख पढ़ें
विकृत समाज: भारत में मानव समाज का अस्तित्व डॉ० रवि प्रकाश श्रीवास्तव ,  Jul 26, 2018
सामाजिक व्यवस्था के विकास में वेदों की भूमिका महत्वपूर्ण है। वर्ण का परिचय ऋग्वेद के 10 वें मंडल से प्रारम्भ होता है, जिसमें यह उदघोषित किया गया है कि ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैष्य और शूद्र सृष्टि के समय परम पुरुष ब्रह्मा के क्रमषः मुख, भुजाओं, जंघा तथा चरणों से प्रकट हुए। विधिवेत्ताओं की दृष्टि में प्रत्येक वर्ण के लिये उत्तरदा ....  लेख पढ़ें
धरती पर चंद्रमा का असरः कभी केवल 18 घंटे का था दिन, बढ़ रही दूरी से जल्द ही 25 घंटे का होगा दिन जनता जनार्दन डेस्क ,  Jun 07, 2018
चंद्रमा के पृथ्वी से दूर जाने के कारण हमारे ग्रह पर दिन लंबे होते जा रहे हैं. एक अध्ययन में यह बात सामने आयी है कि 1.4 अरब वर्ष पहले धरती पर एक दिन महज 18 घंटे का होता था. संभव है कि धरती से चंद्रमा की बढ़ती दूरी के चलते आने वाले समय में धरती पर 25 घंटे का दिन होने लगे. ....  लेख पढ़ें
विश्व पर्यावरण दिवस 2018: जब जीवन ही न होगा, तो कहां होंगे हम जय प्रकाश पाण्डेय ,  Jun 05, 2018
विश्व पर्यावरण दिवस हर साल हमें इस बात का मौका देता है कि हम देखें, समझें और जानें कि प्रकृति के संरक्षण में हर व्यक्ति, परिवार, गांव, शहर, जाति, राज्य, देश और समूचे विश्व की क्या भूमिका है. सारी दुनिया में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है. ....  लेख पढ़ें
धुम्रपान दुनिया भर में दिल की बीमारियों की दूसरी सबसे बड़ी वजह है जनता जनार्दन डेस्क ,  May 31, 2018
तंबाकू का धुंआ आपके शरीर के साथ क्या कर सकता है, आप इसकी कल्पना भी नहीं कर सकते हैं. आज पूरी दुनिया विश्व तंबाकू निषेध दिवस मना रही है और लोग इससे दूर रहने की जगह-जगह नसीहत दे रहे हैं, क्योंकि तंबाकू बीमारियों की जड़ है. ....  लेख पढ़ें
निपाह वायरस का खतराः डरें नहीं, साफसफाई की आदत अपना लें प्रभुनाथ शुक्ल ,  May 28, 2018
निपाह वायरस के खतरे को लेकर पूरा देश दहशत में है. इसकी वजह है कि हम जमींनी स्तर पर संक्रमित बीमारियों से निपटने के लिए कोई दीर्घकालिक समाधान नहीं ढूंढते हैं। सिर्फ बयानबाजी से काम चलाने की आदत पालते हैं। ....  लेख पढ़ें
कल्पाक्कम! जहां प्रकृति के साथ हंसता है 'परम अणु' भी जय प्रकाश पाण्डेय ,  May 21, 2018
कल्पाक्कम में लगता है समुद्र और धरती ने जैसे आपस में तालमेल कर यह जगह वैज्ञानिकों को सौंपी है. प्रकृति और विज्ञान यहां सहोदर हैं. दोनों एक साथ जगते, अंगड़ाइयां लेते और खिलखिलाकर हंसते हैं, अपनी उर्जा से भरपूर. प्रकृति जहां यह नैसर्गिक रूप में करती है, वहीं विज्ञान हमारे कर्मठ वैज्ञानिकों के ज्ञान और शोध से जगता है. ....  लेख पढ़ें
विश्व पृथ्वी दिवस : हमें पेड़ लगाने ही होगें,हम स्वार्थी इंसानों के पास और कोई विकल्प नहीं  आकांक्षा सक्सेना ,  Apr 22, 2018
हमने जबसे याद सम्भालीं है तब से यही सुनते चले आ रहे हैं कि पृथ्वी हमारी माता है और सुबह जागते ही पृथ्वी पर पांव रखने से पहले पृथ्वी माता के पांव छूओ। यह हैं हमारे भारतीय संस्कृति और संस्कार पर कहते हैं न पूर्वजों की कहीं बातें सिर्फ हमने सुनी और लिखीं पर अफसोस! अमल में न ला सके। आज हमारी महत्वाकांक्षायें अंतरिक्ष के साथ-साथ पृथ्वी माँ का भी कलेजा चीरती हुई दिखाई पड़ती है कि आज जंगल न के बराबर बचे हैं। एक समय था हर भारतीय चंदन लगाता था पर आज चंदन की लकड़ी के दर्शन दुर्लभ हैं ....  लेख पढ़ें
डायबिटीज एक नहीं पांच अलग-अलग रोग है, जिसके लिए इंसुलिन जरूरी नहीं जनता जनार्दन डेस्क ,  Mar 03, 2018
डायबिटीज को लेकर दुनियाभर में शोध जारी है. योरोप में हुए नए शोध के मुताबिक डायबिटीज केवल एक रोग नहीं, बल्कि कई रोगों का मिला-जुला रूप है. इसी तरह डायबिटीज के इलाज के मामले में भारतीय डॉक्टरों ने भी एक महत्वपूर्ण खोज की है, जिसकी दुनियाभर में चर्चा है. ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल