सृजन
  • खबरें
  • लेख
चन्दौली: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर, आज की नारी शक्ति विषयक संगोष्ठी व सम्मान समारोह का हुआ आयोजन अमिय पाण्डेय ,  Mar 07, 2021
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस एवं एक मासिक पत्रिका के चतुर्थ स्थापना दिवस के अवसर पर सैयदराजा स्थित राजकीय बालिका इंटर कालेज सैयदराजा के प्रांगण में शनिवार को आज की नारी शक्ति विषयक एक संगोष्ठी तथा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मासिक पत्रिका के संपादक ब्रजेश कुमार एवं विद्यालय की प्रधानाचार्या सुशीला देवी द्वारा ....  समाचार पढ़ें
रेल राजभाषा विभाग मालदा ने हिंदी साहित्यकार सूर्यकांत त्रिपाठी निराला की जयंती मनाई  जनता जनार्दन संवाददाता ,  Feb 24, 2021
राजभाषा विभाग, मालदा द्वारा मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में स्थित हिंदी के प्रख्यात साहित्यकार सूर्यकांत त्रिपाठी निराला की जयंती मनाई गई। ज्ञात हो कि 21 फरवरी को उनकी जयंती थी, परंतु उक्त दिवस को कार्यालय अवकाश होने के कारण इस कार्यक्रम का आयोजन 24 फरवरी को किया गया। इस शुभ अवसर ....  समाचार पढ़ें
हिंदी साहित्यकार अमृतलाल नागर की पुण्यतिथि के अवसर पर गोष्ठी का आयोजन जनता जनार्दन संवाददाता ,  Feb 23, 2021
हिंदी के सुप्रसिद्ध साहित्यकार अमृतलाल नागर की पुण्यतिथि के अवसर पर आज हिंदी विभाग लखनऊ विश्वविद्यालय और अंक विचार मंच, लखनऊ के संयुक्त तत्वावधान में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। अंक विचार मंच की पहल के अनुसार सबसे पहले प्रेमचंद वाटिका में स्थित अमृतलाल नागर की मूर्ति की साफ सफाई की गई। इसके बाद हिंदी विभाग ....  समाचार पढ़ें
हिंदी के महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला की 125 वीं जयंती मनाई गयी  जनता जनार्दन संवाददाता ,  Feb 16, 2021
हिंदी के महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला की 125 वीं जयंती के अवसर पर विगत कई वर्षों की तरह, अंक विचार मंच, लखनऊ और हिंदी विभाग, लखनऊ विश्वविद्यालय द्वारा आईटी चौराहे पर स्थित निराला की प्रतिमा की साफ-सफाई करके माल्यार्पण किया गया। इसके बाद हिंदी विभाग में निराला के जीवन और साहित्य पर केंद्रित एक गोष्ठी और कविता पाठ का ....  समाचार पढ़ें
पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी की जीवनी में पीएम मोदी के कामकाज पर गंभीर सवाल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 28, 2021
प्रधानमंत्री ये भूल गए की कोई भी भारतीय विदेशों में या किसी भी बड़े पद पर बैठता है तो वो राष्ट्र की नीति से काम करता है ना कि अपनR निजी मान्यताओं के मुताबिक. हांलाकि शाम को बालयोगी ऑडिटोरियम में आयोजित मेरे विदाई कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मेरे कार्यकाल के दौरान मिली सीख से जनता के प्रति नीतियों में फायदा होगा. मगर मीडिया ने इस भाषण को तवज्जो नहीं दिया. ....  समाचार पढ़ें
राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर संवादः भारत को वैश्विक ज्ञान की महाशक्ति बनाने की प्रतिबद्धता जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 21, 2021
शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में नई शिक्षा नीति 2020 को एक भविष्यवादी मानसिकता के साथ लागू किया गया है, जिससे चुनौतियों को अवसरों में बदल दिया गया है. उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति 2020 के माध्यम से हम सब भारत को एक 'वैश्विक ज्ञान की महाशक्ति' के रूप में स्थापित करने हेतु प्रतिबद्ध भी हैं और सक्षम भी. ....  समाचार पढ़ें
साहित्य अकादेमी द्वारा फणीश्वरनाथ रेणु की जन्मशतवार्षिकी पर संगोष्ठी संपन्न जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 19, 2021
साहित्य अकादेमी ने प्रख्यात लेखक फणीश्वर नाथ रेणु की जन्मशतवार्षिकी के अवसर पर आज 18 जनवरी को एक संगोष्ठी का आयोजन आभासी मंच पर किया. संगोष्ठी का उद्घाटन वक्तव्य प्रख्यात कवि एवं आलोचक तथा साहित्य अकादेमी के महत्तर सदस्य विश्वनाथ प्रसाद तिवारी ने दिया. ....  समाचार पढ़ें
विश्व हिंदी दिवस पर सृजनलोक द्वारा ऑनलाइन श्रद्धांजलि एवं काव्य पाठ आयोजन जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 12, 2021
सृजनलोक प्रकाशन समूह के तत्वावधान "विश्व हिंदी दिवस" पर एक भव्य ऑनलाइन श्रद्धांजलि सभा और सृजनलोक काव्य पाठ का आयोजन किया गया. यह कार्यक्रम दो सत्रों में संपन्न हुआ. ....  समाचार पढ़ें
फारूक़ी के बिना उर्दू अदब अधूरा: साहित्य अकादेमी की श्रद्धांजलि सभा में गोपी चंद नारंग जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 08, 2021
साहित्य अकादेमी ने आज प्रख्यात उर्दू लेखक एवं समालोचक शमसुर्रहमान फ़ारूक़ी की स्मृति में आभासी मंच पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया, जिसमें देश के जाने-माने लेखकों और विद्वानों ने सहभागिता की। ....  समाचार पढ़ें
 उपराष्ट्रपति नायडू का वादा पूरा, भारतीय साहित्य की 10 महान कृतियों का चीनी, रूसी भाषा में अनुवाद पूर्ण जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 01, 2020
शंघाई सहयोग सगठन (एससीओ) की आभासी बैठक के दौरान भारत के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने आधुनिक भारतीय साहित्य की 10 कालजयी कृतियों के चीनी तथा रूसी अनुवादों के पूर्ण होने की घोषणा की. यह घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय क्षेत्रीय साहित्य की इन अद्वितीय कृतियों के चीनी तथा रूसी भाषाओं में अनुवाद से भारत की प्राचीन और समृद्ध भारतीय सांस्कृतिक विरासत में दूसरे देशों के लोगों की व्यापक रुचि उत्पन्न होगी. ....  समाचार पढ़ें
ओड़िया कहानी: खोज   मूलः वरदा प्रसन्न महांति, अनुवाद- सुजाता शिवेन ,  Dec 31, 2020
कॉलेज के युवाओं के लिए उच्च शिक्षा का आखिरी साल हमेशा भविष्य के सपनों को लेकर उलझा रहता है. प्रशासनिक सेवाओं के आकर्षण ने शोध जैसे महत्त्वपूर्ण अकादमिक कार्य को कैसे हाशिए पर डाला है, उसे ही उजागर करती विचारोत्तेजक कहानी ....  लेख पढ़ें
रिश्ता बनारस से बुनकर का माइटी इक़बाल  ,  Sep 27, 2020
चलते चलते यह भी कहता चलूं की प्रदेश सरकार के मुखिया बुनकर हित मे बिजली की या अन्य जो भी योजना लाएं,यह तय तो होना ही चाहिए कि इसका लाभ उन गरीब बुनकरों को प्राप्त हो जो रोज कमाने खाने वाले बुनकर हैं ,या जो बुनकर दो एक पावर लूम चला कर अपना धंधा करते है ना कि उन अ ....  लेख पढ़ें
बी.एच.यू मेरी साँसों में बसता है डॉ महबूब हसन ,  Jun 01, 2020
अज़ीज़ दोस्तों! बी.एच.यू. मेरे लिए हसीन यादों का एक बेश-किमती एल्बम है..कोलाज़ है, जिस में ज़िन्दगी के सारे रंग मौजूद हैं। बी.एच.यू. मेरी साँसों में बसता है! मेरे दिल की धड़कनों में शामिल है। बी.एच.यू. मेरी मुहब्बत है, मेरा इश्क़ है, मेरा जुनून है। ऐसा इश्क़ जिस ने मुझेख़ुशी व कामयाबी की नई न ....  लेख पढ़ें
ऐसा देश है मेरा: डॉ महबूब हसन ने क्या खूब लिखा   Desk JJ ,  Apr 24, 2020
ज़रा गौर से इन तस्वीरों को देखिए। इन तस्वीरों में हज़ारों बरस की मिली जुली आपसी तहज़ीब, संस्कृति, भाईचारा और प्रेम की एक लंबी दास्तान सिमट आई है। इसे गंगा जमुनी तहजीब भी कहते हैं। यहां की मिट्टी और कण कण में ये खुशबु रची बसी है। हिंदुस्तानी समाज का ताना बाना प्रेम और सौहार्द के धागों से ही तैयार हुआ है। हमने पूरी दुनियाँ को विश्व बंधुत्व और वसुधैव कुटुम्बकम का जैसा प्यारा संदेश दिया। होली, ईद, दशहरा, दीवाली और मोहर्रम जैसे त्योहार इस धागे को और मजबूत करते हैं। अनेकता में एकता की ऐसी खूबसूरत मिसाल पूरी दुनिया में कहीं भी नज़र नहीं आती। यहां हज़ारों भाषाएं और बोलियों में देश की एकता और अखण्डता के सुरीले गीत बजते हैं। संतों, सन्यासियों और फकीरों ने अपने पैगाम के जरिए इंसानियत और धार्मिक सौहार्द के दीप जलाए। प्रकृति ने भी सुंदर पहाड़ियों, ....  लेख पढ़ें
साहित्यकार भी, समाजसेवी भी और सबसे बढ़कर मां: महाश्वेता देवी जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 14, 2019
आज महाश्वेता का जन्मदिन है. अगर वह जिंदा होतीं, तो 93 की होतीं. अपने नाम की ही तरह साफ, उजली और सफ्फ़ाक. उन्होंने ताउम्र लेखन व संघर्ष उनके लिए किया जो जूझ रहे थे अपनी पहचान के लिए. इसीलिए वह बड़ी साहित्यकार थीं. शिक्षक भी समाजसेवी भी. किसी एक खांचे में उन्हें अलग करना मुश्किल है. वह मां थी, एक दो की नहीं हजार चौरासी की मां... अनगिनत की मां. ....  लेख पढ़ें
किस्सा-ए-बैरागी जी! गौरव अवस्थी की श्रद्धांजलि गौरव अवस्थी ,  May 14, 2018
देश के सुप्रतिष्ठित कवि और उससे भी अधिक हंसमुख एवं सभी के सहयोग में तत्पर रहने वाले सरलता से हमेशा लबरेज रहने वाले आदरणीय बालकवि बैरागी जी हमारे पिता की तरह थे. जो स्नेह हमें अपने पिता से मिला वही बैरागी जी से भी लगातार मिलता रहा. ऐसे स्नेहिल स्वभाव के बैरागी जी से जुड़ा यह किस्सा डॉ शिवमंगल सिंह सुमन के मुंह से कभी बाल्यकाल में सुना था. ....  लेख पढ़ें
विश्व पुस्तक व कॉपीराइट दिवस विशेष:दुनिया को जोड़तीं हैं किताबें ब्लॉगर आकांक्षा सक्सेना ,  Apr 23, 2018
साथियों हमारे देश को विश्वगुरू इसलिए कहा जाता है कि हमारे देश की नींव प्रेम, सम्मान, ज्ञान और विज्ञान के प्रतीक महान वेदों, पुराणों, श्री रामायण,श्री भगवद्गीता, महाभारत, श्रीभागवत् महापुराण, कुरान,बाईविल, जेंद आवेस्ता वस्ता, गुरू ग्रंथ साहिब जैसे ज्ञान, वैराग्य, प्रेम, शांति और जीवन आनंद के कभी न खत्म होने वाले अनमोल खजानों से ....  लेख पढ़ें
राष्ट्रपति बनने की अनिच्छा, दोस्तों की बीवियों पर डोरेः फायर एंड फ्यूरी: इनसाइड द ट्रंप व्हाइट हाउस- पुस्तक अंश जनता जनार्दन डेस्क ,  Jan 05, 2018
डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बनना नहीं चाहते थे. ये दावा अमेरिकी पत्रकार ने अपनी किताब में किया है. अमेरिकी पत्रकार की किताब के मुताबिक, पिछले साल आश्चर्यजनक चुनावी जीत के बाद अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप की आंखों में आंसू थे, लेकिन वो खुशी के आंसू नहीं थे. ....  लेख पढ़ें
'घर की औरतें और चांद': रेणु शाहनवाज़ हुसैन के काव्य संग्रह पर एक चर्चा विम्मी करण सूद ,  Nov 17, 2017
'जैसे' और 'पानी प्यार' के बाद रेणु शाहनवाज़ हुसैन का अगला काव्य संग्रह आने को तैयार है जिसका नाम है 'घर की औरतें और चांद' । हाल ही में रेणु ने 'द रायसन्स' में इस संग्रह में से कुछ कविताएं दोस्तों के बीच साझी कीं। चांद यूं तो प्यार, महबूब का प्रतीक है पर रेणु का चांद उस मरकरी की तरह है जो कल्पना के सांचे में ढलकर वही रूप अख्तियार कर लेता है जो घर की औरतें देखना चाहती हैं… ....  लेख पढ़ें
सर मार्क टुली: पत्रकारिता से कथा लेखन की ओर साकेत सुमन ,  Nov 10, 2017
अधिकांश भारतीयों से भी ज्यादा भारतीय परिवेश में रचे-बसे सर मार्क टुली का लालन-पालन भले ही अंग्रेजियत के साथ हुआ, लेकिन उनको भारत से लगाव बचपन से ही रहा है। जीवन के अस्सी से ज्यादा वसंत देख चुके जानेमाने ब्रॉडकास्टर व लेखक कभी पादरी बनने की आकांक्षा रखते थे और इसके लिए उन्होंने धर्मशास्त्र में डिग्री भी हासिल की। लेकिन बाद में घटनाक्रम कुछ ऐसा बदला उन्हें भारत वापस लौटना पड़ा। ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल