Sunday, 02 October 2022  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर मायावती का चौंकाने वाला फैसला

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 03, 2022, 10:32 am IST
Keywords: Vice President Election 2022   Draupadi Murmu   President Election   M Venkaiah Naidu   उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू   Jagdeep Dhankhar   Bahujan Samaj Party   बहुजन समाज पार्टी   
फ़ॉन्ट साइज :
उपराष्ट्रपति चुनाव को लेकर मायावती का चौंकाने वाला फैसला उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए 6 अगस्त को होने वाले मतदान से पहले बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती  ने बड़ा ऐलान किया है और बताया है कि उपराष्ट्रपति चुनाव में बसपा के सांसद किस उम्मीदवार को वोट देंगे. मायावती ने ट्वीट कर बताया कि उपराष्ट्रपति चुनाव में उनकी पार्टी ने एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ को अपना समर्थन देने का फैसला किया है.

मायावती ने ट्वीट कर कहा, 'सर्वविदित है कि देश के सर्वोच्च राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में सत्ता और विपक्ष के बीच आम सहमति ना बनने की वजह से ही इसके लिए फिर अन्ततः चुनाव हुआ. अब ठीक वही स्थिति बनने के कारण उपराष्ट्रपति पद के लिए भी दिनांक 6 अगस्त को चुनाव होने जा रहा है.'

मायावती ने दूसरे ट्वीट में कहा, 'बीएसपी ने ऐसे में उपराष्ट्रपति पद के लिए हो रहे चुनाव में भी व्यापक जनहित और अपनी मूवमेंट को भी ध्यान में रखकर जगदीप धनखड़ को अपना समर्थन देने का फैसला किया है और जिसकी मैं आज औपचारिक रूप से घोषणा भी कर रही हूं.

बसपा सुप्रीमो मायावीत ने इससे पहले राष्ट्रपति चुनाव में भी एनडीए उम्मीदवार का समर्थन किया था और द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में मतदान किया था. इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि बसपा ने ये फैसला स्वतंत्र होकर किया है. ये न सत्तापक्ष के समर्थन में है न विपक्ष के खिलाफ.

निर्वाचन आयोग ने उपराष्ट्रपति चुनाव (Vice-President Election 2022) के कार्यक्रम की घोषणा कर दी है और इसके लिए 6 अगस्त को वोट डाले जाएंगे. मतों की गणना भी 6 अगस्त को ही होगी. बता दें कि मौजूदा उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू (M Venkaiah Naidu) का कार्यकाल 10 अगस्त को समाप्त हो रहा है.

भारतीय जनता पार्टी ने पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को उपराष्ट्रपति का प्रत्याशी घोषित किया है, जबकि विपक्षी दलों ने मार्गरेट अल्वा को उपराष्ट्रपति पद का प्रत्याशी चुना है. जगदीप धनखड़ की तरह ही मार्गरेट अल्वा भी राज्यपाल रह चुकी हैं और उन्हें भी प्रशासनिक कार्यों का अनुभव है.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल