Tuesday, 09 August 2022  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

संजय राउत मेरा छोटा भाई, वह झुकने वाला नहीं: उद्धव ठाकरे

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 01, 2022, 16:23 pm IST
Keywords: प्रवर्तन निदेशालय   Uddhav Thackera   Sanjay Raut   मुंबई   पात्रा चॉल घोटाला   शिवसेना  
फ़ॉन्ट साइज :
संजय राउत मेरा छोटा भाई, वह झुकने वाला नहीं: उद्धव ठाकरे मुंबई के पात्रा चॉल घोटाला में 10 घंटे से ज्यादा की पूछताछ के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया है. रविवार को उनके सुबह 7 बजे के करीब पूछताछ शुरू हुई थी और इसके बाद दूसरे राउंड की पूछताछ के लिए उन्हें ईडी दफ्तर ले जाया गया था. इसके बाद सोमवार सुबह राउत की गिरफ्तारी की गई है. शिवसेना सांसद की गिरफ्तारी पर संसद के दोनों सदनों में हंगामा देखने को मिला और विपक्षी सांसदों के प्रदर्शन के चलते सदन की कार्यवाही भी बाधित रही. उधर महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख ने राउत की गिरफ्तारी को लेकर बीजेपी पर निशाना साधा है.


उद्धव ठाकरे ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहा कि आज सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वालों को जेल भेजा जा रहा है लेकिन वक्त हमेशा एक सा नहीं रहता, सोचा अगर हमारा वक्त आएगा तो क्या होगा. उन्होंने संजय राउत के लिए अपना समर्थन जताते हुए उन्हें अपना छोटा भाई बताया और कहा कि वह झुकने वाला शिवसैनिक नहीं है. उद्धव ने कहा कि हम मरने के लिए तैयार हैं लेकिन बीजेपी की शरण में कतई नहीं जाएंगे. उद्धव ने कहा कि संजय राउत मेरा अभिमान है और पूरी तरह से उनके परिवार के साथ खड़े हैं.

इससे पहले उद्धव ठाकरे ने संजय राउत के घर पहुंचकर उनके परिवार के सदस्यों से मुलाकात की. उद्धव भांडुप स्थित राउत के आवास पहुंचे और वहां राउत की मां को गले लगाकर ढांढस बंधाया. शिवसेना के नेता राउत को उद्धव ठाकरे का सबसे करीबी माना जाता है और यही वजह है कि पूरी पार्टी राउत के समर्थन में आकर खड़ी हो गई है.  

PMLA कोर्ट में पेशी के बाद राउत को 4 अगस्त तक के लिए ईडी की रिमांड में भेज दिया गया है. एजेंसी ने कोर्ट से आठ दिन की रिमांड मांगी थी लेकिन राउत के वकीलों ने कोर्ट में दलील दी कि वह दिल के मरीज हैं. हालांकि इस पर ईडी ने उन्हें स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने की बात भी कोर्ट में कही थी. जांच एजेंसी ने राउत पर गवाहों को धमकाने और सूबतों से छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया. इसके बाद बचाव पक्ष ने मेडिकल ग्राउंड पर ईडी रिमांड का विरोध किया और कहा कि वह जांच में पूरा सहयोग दे रहे हैं. दोनों पक्षों को सुनने के बाद कोर्ट ने राउत को गुरुवार तक के लिए रिमांड पर भेज दिया है. 

अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल