Friday, 28 January 2022  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

कौन होगा बसपा सुप्रीमो मायावती का उत्तराधिकारी?

जनता जनार्दन संवाददाता , Nov 09, 2021, 17:44 pm IST
Keywords: Mayawati   UP Assembly Elections 2022   बसपा प्रमुख मायावती   बीजेपी सरकार  
फ़ॉन्ट साइज :
कौन होगा बसपा सुप्रीमो मायावती का उत्तराधिकारी? नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश में विधान सभा चुनाव होने हैं, इसको लेकर सभी दलों ने जोर आजमाइश शुरू कर दी है. इसी क्रम में बहुजन समाजा पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती  ने बीजेपी पर निशाना साथा. उन्होंने बीजेपी व अन्य विपक्षी पार्टियों पर यूपी की जनता को बरगलाने का आरोप लगाया. साथ ही मायावती ने उत्तराधिकारी को लेकर पूछे गए सवाल का भी जवाब दिया.

बसपा प्रममुख मायावती ने कहा, यूपी और केन्द्र की बीजेपी सरकार ने पिछले डेढ़-दो महीने में घोषणाओं की भरमार कर दी है और अधूरे कामों का उद्घाटन और शिलान्यास किया जा रहा है. ऐसा लगता है कि चुनाव घोषित होने तक यह लगातार जारी रहेगा. मायावती ने कहा कि यह सब कुछ विधान सभा चुनाव में बीजेपी की हार को दिखाता है. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए मायावती ने कहा, अलग-अलग प्रलोभन भरे चुनावी वादे किए जा रहे हैं लेकिन यूपी की जनता इनपर विश्वास करने वाली नहीं है.

मायावती ने कहा, यदि कांग्रेस पार्टी ने यूपी में लंबे कार्यकाल में 50 फीसदी भी वादे पूरे कर दिए होते तो कांग्रेस यूपी समेत देश के अधिकांश राज्यों में सत्ता से बाहर नहीं होती. कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है. मायावती ने कहा, बीएसपी इस मामले में बातें बहुत कम और काम ज्यादा करने में विश्वास रखती है. बीजेपी को अगर जनता के दुख दर्द की थोड़ी भी परवाह होती तो जिस कदर महंगाई बढ़ी है, जनता इन्हें भूलेगी नहीं. तेल की कीमतों पर कहा, हार के डर से पेट्रोल-डीजल की कीमतों में थोड़ी कमी की है, लेकिन चुनाव बाद बीजेपी इसे भी वसूल कर लेगी. 

फ्री राशन योजना को लेकर मायावती ने कहा, गरीबों को जो राशन मुफ्त बांटा जा रहा है वो भी चुनाव खत्म होते ही बंद हो जाएगा. यूपी की जनता को यह भी ध्यान रखना चाहिए कि यूपी में बीजेपी सरकार की विफलताओं पर पर्दा डालने के लिए सपा अंदरूनी सांठ-गांठ कर जिन्ना और अयोध्या फायरिंग जैसे सांप्रदायिक मुद्दे उठा रही है. ताकि ये चुनाव हिंदू मुस्लिम हो जाए. उन्होंने सपा और भाजपा मिलीभगत का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, सपा और भाजपा की राजनीति हमेशा एक दूसरे की पूरक रही है, इनकी सोच जातिवादी है. इनका अस्तित्व एक दूसरे पर ही आधारित होती है.

परिवारवाद पर मायावती ने कहा, यूपी के सीएम योगी जी को यह बता देना चाहती हूं कि आपकी तरह मेरा भी अपना कोई परिवार नहीं है. उन्होंने गेरुआ पहन लिया है मैंने नहीं पहना है. आकाश आनंद के बीएसपी के उत्तराधिकारी के होने के सवाल पर कहा, 'अभी मैं स्वस्थ हूं, जब मैं काम नहीं कर पाऊंगी तब इस पर बताऊंगी. मायावती ने कहा, 2022 का चुनाव मेरे नेतृत्व में ही लड़ा जा रहा है. सबकी इच्छा है कि बहन जी पांचवी बार यूपी की मुख्यमंत्री बनें. बीएसपी किसी से भी चुनावी गठबंधन नहीं करेगी.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल