Monday, 18 October 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

भारत में चीन जैसे बिजली संकट का खतरा?

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 09, 2021, 21:19 pm IST
Keywords: Coal Crisis   Coal India Limited   Coal   Power Plants   कोयले की कमी   
फ़ॉन्ट साइज :
भारत में चीन जैसे बिजली संकट का खतरा?

नई दिल्ली: आने वाले दिनों में दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में बिजली संकट गहरा सकता है. पावर प्लांट को चलाने के लिए उनके पास पर्याप्त मात्रा में कोयले का स्टॉक नहीं है. इसके चलते बिजली उत्पादन पर असर पड़ सकता है.

सेंट्रल इलेक्ट्रिसिटी अथॉरिटी (CEA) ने 7 अक्टूबर को भारत के पावर प्लांट्स में कोयले (Coal) के स्टॉक रिपोर्ट जारी की थी. इस रिपोर्ट के मुताबिक देश के कुल 135 पावर प्लांट्स में से 110 में कोयले का पर्याप्त स्टॉक नहीं है.

रिपोर्ट के मुताबिक भारत के 135 पावर प्लांट्स में कोयले (Coal) का जितना स्टॉक होना चाहिए, उसके मुकाबले केवल 19 प्रतिशत स्टॉक ही मौजूद था. अगर डिटेल में बात की जाए तो इनमें से 16 पावर प्लांट्स में एक दिन का भी कोयले का स्टॉक नहीं है. वहीं 30 पावर प्लांट्स में सिर्फ 1 दिन का कोयले का स्टॉक बचा मिला.

18 पावर प्लांट्स में 2 दिन, 19 में 3 दिन और 9 पावर प्लांट्स में 4 दिन का ही स्टॉक बचा था. देश के 6 पावर प्लांट्स में कोयले का 5 दिन का और 10 प्लांट्स में 6 दिन का कोयला बचा मिला. देश के 1 पावर प्लांट में 7 दिन और 1 में 8 दिन का कोयले का स्टॉक दिखा. 

कोयले की कमी के कारण 

रिपोर्ट के मुताबिक जिन 110 पावर प्लांट्स (Power Plants) में कोयले का स्टॉक सामान्य से कम पाया गया, उनमें से 10 प्लांट ऐसे हैं, जिन्होंने पुराने बिलों का भुगतान नहीं किया है. इसके चलते उन्हें कोयली की सप्लाई रोक दी गई है. वहीं 57 प्लांट ऐसे पाए गए, जिन्होंने समय से और पूरा भुगतान दिया था. इसके बावजूद कोल इंडिया की सहयोगी कंपनी जैसे CCL, WCL, MCL, SECL, SSCL ने भुगतान के बाद भी कम सप्लाई की थी.

रिपोर्ट में 12 प्लांट ऐसे मिले, जिन्होंने कम रकम का भुगतान किया था. इसलिए उन्हें कोयले (Coal) की सप्लाई भी कम की गई. बाकी के पावर प्लांट्स में कोयले की कमी तकनीकी दिक्कत या फिर ट्रांसपोर्ट में दिक्कत की वजह से आ रही है. 

बता दें कि कोयले की कमी से चीन भी इन दिनों जबरदस्त बिजली संकट से जूझ रहा है. वहां पर अधिकतर पावर प्लांट कोयले से चलते हैं, जिसकी सप्लाई ऑस्ट्रेलिया से आती थी. अब दोनों देशों में विभिन्न मुद्दों पर अनबन चल रही है, जिसके बाद चीन ने ऑस्ट्रेलिया से कोयला खरीदना बंद कर दिया है. इसके चलते वहां पर बिजली संकट पनप गया है.

अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल