Monday, 18 October 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

स्यूकुरो मानेबे, क्लाउस हासेलमैन और जियोर्जियो पारिसि को मिला सम्मान

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 05, 2021, 18:01 pm IST
Keywords: David Julius   Ardem Patapoutian   Syukuro Manabe   नोबेल पुरस्‍कार   क्लाउस हासेलमैन  
फ़ॉन्ट साइज :
स्यूकुरो मानेबे, क्लाउस हासेलमैन और जियोर्जियो पारिसि को मिला सम्मान नई दिल्ली: फिजिक्स के साल 2021 के लिए नोबेल पुरस्‍कार (Nobel Prize 2021) का ऐलान हो चुका है. इस साल का भौतिकी के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार स्यूकुरो मानेबे (Syukuro Manabe), क्लाउस हासेलमैन (Klaus Hasselmann) और जियोर्जियो पारिसि (Giorgio Parisi) को दिया गया है. तीनों लोगों को ये पुरस्कार जटिल फिजिक्स सिस्टम की समझ में अभूतपूर्व योगदान के लिए दिया गया है.

सोमवार को साल 2021 का शरीर क्रिया विज्ञान और मेडिसिन का नोबेल पुरस्कार डेविड जूलियस (David Julius) और अर्देम पेतापौटियन (Ardem Patapoutian) को दिया गया. इन दोनों वैज्ञानिकों को तापमान और स्पर्श के रिसेप्टर्स की खोज के लिए इस सम्मान से नवाजा गया. इन दोनों वैज्ञानिकों ने इस बात को विस्तार से समझाया कि गर्मी, ठंडक, स्पर्श और दबाव के संकेत हमारे नर्वस सिस्टम तक कैसे पहुंचाते हैं. 

नोबेल फाउंडेशन द्वारा स्वीडन के वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में वर्ष 1901 में शुरू किया गया यह शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र के क्षेत्र में विश्व का सर्वोच्च पुरस्कार है. इस पुरस्कार के रूप में प्रशस्ति-पत्र के साथ 10 लाख डॉलर की राशि प्रदान की जाती है. अल्फ्रेड नोबेल ने कुल 355 आविष्कार किए जिनमें डायनामाइट का आविष्कार भी था. दिसंबर 1896 में मौत से पहले अल्फ्रेड नोबेल ने अपनी संपत्ति का एक बड़ा हिस्सा एक ट्रस्ट के लिए सुरक्षित रख दिया. उनकी इच्छा थी कि इस पैसे के ब्याज से हर साल उन लोगों को सम्मानित किया जाए जिनका काम मानव जाति के लिए सबसे कल्याणकारी पाया जाए. स्वीडिश बैंक में जमा इसी राशि के ब्याज से नोबेल फाउंडेशन द्वारा हर वर्ष शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन, चिकित्सा विज्ञान और अर्थशास्त्र में सर्वोत्कृष्ट योगदान के लिए यह पुरस्कार दिया जाता है.  
अन्य अंतरराष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल