Monday, 06 December 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

स्वास्थ्य मंत्रालय ने टीका लगाने संबंधी गाइडलाइन जारी किया

जनता जनार्दन संवाददाता , Sep 23, 2021, 19:45 pm IST
Keywords: Health Ministry   Health News   Healthy People   Maharashtra   Karnataka   Tamil Nadu   कोरोना टीकाकरण   कोरोना टीकाकरण अभियान   नीति आयोग सदस्य डॉ वी के पॉल   
फ़ॉन्ट साइज :
स्वास्थ्य मंत्रालय ने टीका लगाने संबंधी गाइडलाइन जारी किया

देश में कोरोना टीकाकरण अभियान तेजी से जारी है. इस बीच आज सरकार ने कहा कि जो घर से बाहर नहीं टीका लगवाने जा सकते हैं, उनको घर पर सुपरवाइज करके टीका लगाने संबंधी गाइडलाइन जारी किया गया है. नीति आयोग सदस्य डॉ वी के पॉल ने कहा कि अशक्त लोगों और चल-फिर नहीं सकने वाले लोगों को हम कोविड-19 का टीका घर पर ही देंगे.

बता दें कि इस समय 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोग वैक्सीनेशन सेंटर जाकर टीका लगवा रहे हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, 18 साल से ज्यादा आयु वर्ग में 66 फीसदी लोगों को पहली डोज और 23 फीसदी को दोनों डोज दी जा चुकी है. 35.4 फीसदी शहरी इलाको में और 63.7 फीसदी ग्रामीण इलाकों में वैक्सीनेशन हुआ है.

स्वास्थ्य मंत्रालय ने लोगों से अपील की कि त्योहार समझदारी से मनाएं, वैक्सीनेशन के बाद भी कोविड गाइडलाइन का पालन करें. सिंतबर के महीने में 81.76 लाख प्रति दिन करीब वैक्सीन लगाए जा रहे हैं जबकि अगस्त में ये 59.19 लाख था. हर महीने टीकाकरण बढ़ रहा है. राष्ट्रव्यापी टीकाकरण मुहिम के तहत अभी तक कोविड-19 रोधी टीकों की 83.39 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के मामले घटने के बावजूद अब भी हम महामारी की दूसरी लहर के बीच में हैं. ऐसे में सावधानी जरूरी है. 

स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि आनेवाले त्योहारों को देखते हुए फेस्टिवल गाइडलाइंस जारी की गई है. सभी राज्यों को व्यापक एसओपी भेजा गया है. त्योहारों के लिए कहा गया है कि जहां 5 फीसदी से ज्यादा पॉजिटिवटी रेट है वहां भीड़ एकत्रित नहीं होने दी जाए. किसी भी भीड़ के लिए पहले इजाजत ली गई हो साथ ही इसमें लोगों की संख्या बताई जाए. वहीं नीति आयोग सदस्य डॉ वी के पॉल ने लोगों से अपील की कि त्योहारों में लापरवाही नहीं बरतें, हमे सुरक्षित रहना है. त्योहार घर में ही मनाएं.

स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि सबसे ज्यादा एक्टिव केस केरल, फिर महाराष्ट्र, तमिलनाडु, मिज़ोरम, आंध्र प्रदेश और कर्नाटक में है. केरल एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या एक लाख से अधिक है. पिछले हफ्ते सामने आए कुल मामलों में 62.73 प्रतिशत इसी राज्य से थे.

उन्होंने कहा कि 33 जिलों में साप्ताहिक स्तर पर कोविड-19 के 10 प्रतिशत से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं , जबकि 23 जिलों में 5 से 10 प्रतिशत मामले सामने आ रहे हैं.

अन्य स्वास्थ्य लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख