Wednesday, 08 December 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

हिंदी दुनिया की सबसे शक्तिशाली भाषा: मंडल रेल प्रबंधक राजेश कुमार पांडेय

हिंदी दुनिया की सबसे शक्तिशाली भाषा: मंडल रेल प्रबंधक राजेश कुमार पांडेय
हिंदी दिवस के अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में आयोजित "हिंदी सप्ताह समारोह - 21" के दूसरे दिन मंडल राजभाषा कार्यान्वयन समिति की बैठक मंडल सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता करते हुए मंडल रेल प्रबंधक राजेश कुमार पांडेय ने हिंदी दिवस की बधाई देते हुए कहा कि  " दुनिया मे भारत की पहचान हिंदी से है। हिंदी मात्र एक भाषा भर ही नही है बल्कि हमारे एकता की सूत्रधार भी है। भाषा वही सशक्त है जो दूसरी भाषा के भी शब्दो को अपने मे समाहित कर ले। इस मामले में हिंदी सबसे शक्तिशाली भाषा है।"  उन्होंने ने इसके आगे हिंदी के राजभाषा होने और सरकारी कार्यालयों में हिंदी की महत्ता और उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि " देश के सरकारी काम - काज और सार्वजनिक प्रतिष्ठानों को आम जनता तक पहुँचना है , अपना व्यापार करना है तो उसे हिंदी की ही शरण में आना होगा ।"  बैठक में सभी सदस्यों का स्वागत करते हुए अपर मंडल रेल प्रबंधक राकेश कुमार रौशन ने अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि " राजभाषा हिंदी में काम - काज करना हमारे लिए गौरव की बात है । मंडल के हिंदीभाषी क्षेत्र में स्थित होने के कारण हिंदी में काम करना आसान है।"
     
इस अवसर पर मंडल रेल प्रबंधक द्वारा समाप्त तिमाही के दौरान कार्यालयी काम - काज में हिंदी का सर्वाधिक प्रयोग करने के लिए *कर्षण चल स्टॉक विभाग* को *अंतर्विभागीय चल राजभाषा शील्ड* प्रदान किया गया जिसे प्रशांत कुमार , वरिष्ठ मंडल विद्युत इंजी.(क. च.स्टा.) ने ग्रहण किया। दिनेश चन्द्र , वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी द्वारा मानक कार्यसूची के अनुरूप बैठक में राजभाषा की प्रगति पर विंदुवार चर्चा सम्पन्न करायी गयी।
         
बैठक में मंडल रेल प्रबंधक महोदय ने उपस्थित सभी को राजभाषा की शपथ दिलाई और रेल मंत्री  के राजभाषा संदेश का वाचन किया गया।इस अवसर पर शाखाधिकारीगण , राजभाषा विभाग के कर्मचारीगण उपस्थित रहे। अंत मे वरिष्ठ राजभाषा अधिकारी दिनेश चन्द्र ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
अन्य यात्रा & स्थान लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख