Saturday, 23 October 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

वियतनाम के करीब जाने की कोशिश में US और चीन, वैक्सीन का लालच देकर ड्रैगन ने चला नया दांव

जनता जनार्दन संवाददाता , Sep 12, 2021, 13:37 pm IST
Keywords: दक्षिण चीन सागर   वैक्सीन नीति   वियतनाम   अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस   वियतनाम   China News  
फ़ॉन्ट साइज :
वियतनाम के करीब जाने की कोशिश में US और चीन, वैक्सीन का लालच देकर ड्रैगन ने चला नया दांव

दक्षिण चीन सागर पर पूरी दुनिया को आंख दिखाने वाले चीन की एक चाल सामने आई है, चीन वियतनाम को अपना दोस्त बनाने के लिए आगे आया है. चीन से पहले अमेरिका ने वियतनाम को अपने साथ मिलाने और दोस्त बनाने का दांव खेला था. दरअसल चीन कोरोना महामारी के इस दौर में अपनी वैक्सीन नीति के जरिए वियतनाम के करीब जाने की कोशिश में है. चीन वियतनाम को करीब करने के लिए वैक्सीन का लालच भी दे रहा है.

किसका सहयोगी है वियतनाम

अब सवाल यह उठ रहा है वियतनाम किसका सहयोगी है. लंबे अरसे से वियतनाम और चीन के बीच क्षेत्रीय विवाद रहा है, ऐसे में चीन और वियतनाम के नेता क्यों हाथ मिला रहे हैं? इसके अलावा सवाल यह भी उठ रहा है कि वियतनाम और चीन के नेताओं के बीच मुलाकात अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के वियतनाम दौरे के कुछ दिनों बाद ही क्यों हो रही है?

सवालों का जवाब है दक्षिण चीन सागर

वियतनाम भी करता है दक्षिण चीन सागर पर अपना दावा

उप राष्ट्रपति कमला हैरिस ने चीन के बढ़ते कदमों को रोकने के लिए वियतनाम से अमेरिका का साथ देने को कहा था. क्योंकि वियतनाम भी उन देशों में शामिल है जो साउथ चाइना सी पर अपनी दावेदारी बताता हैं. अब अमेरिका के जवाब में चीन ने भी अपनी टेढ़ी चाल चल दी है. चीन के विदेश मंत्री वांग यी शुक्रवार को दो दिन के वियतनाम दौरे पर पहुचे, जहां उन्होंने इस द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा कर अपने संबंधों में सुधार करने की बात कही और वियतनाम को कोरोना की 30 लाख वैक्सीन की डोज देने का वादा भी किया.

अब देखना ये होगा कि वियतनाम चीन के साथ बरसों से चल रहे कलह को भूल कर चीन का साथ देगा या समुद्री मार्ग में चीन के दखल को खत्म करने के लिए अमेरिका का सहयोगी बनेगा.

अन्य अंतरराष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल