Saturday, 23 October 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

संतान को योग्य बनाने के लिए माता पिता को हमेशा इन बातों का ध्यान रखना चाहिए

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 20, 2021, 19:23 pm IST
Keywords: Chanakya Niti   Aachraya Chanakya   Chanakya Niti For You   आचार्य चाणक्य   चाणक्य   भविष्य की दिशा  
फ़ॉन्ट साइज :
संतान को योग्य बनाने के लिए माता पिता को हमेशा इन बातों का ध्यान रखना चाहिए

चाणक्य नीति के अनुसार हर माता पिता का सपना होता है कि उसकी संतान योग्य बने. लेकिन इस सपने को साकार करने के लिए कठोर परिश्रम और त्याग भी करना पड़ता है. जो माता पिता अपनी संतान की शिक्षा और अन्य गतिविधियों पर ध्यान नहीं देते हैं उन्हें बाद में दुख और कष्ट उठाने पड़ते हैं. इसलिए संतान को यदि योग्य बनाना चाहते हैं तो चाणक्य की इन बातों को जरूर जान लें-

संस्कार- चाणक्य नीति कहती कि संतान को संस्कार, माता पिता से ही प्राप्त होते हैं. संस्कारों को लेकर यदि माता पिता गंभीर हैं तो संतान को अच्छे संस्कार मिलते हैं. संस्कारवान संतान सदैव श्रेष्ठ गुणों से पूर्ण होती हैं. ऐसी संतान कुल और राष्ट्र का नाम रोशन करती है.

अनुशासन- चाणक्य नीति कहती है कि माता पिता को आरंभ से ही संतान में अनुशासन की भावना को जागृत करना चाहिए. अनुशासन से ही सफलता की राह आसान होती है. जिन बच्चों में अनुशासन की भावना नहीं होती है, उन्हें सफलता प्राप्त करने में संघर्ष करना पड़ता है, वहीं जो बच्चें अनुशासन से जीवन को जीते हैं अपने सभी कार्यों को समय पर पूर्ण करते हैं, वे सदैव बड़े लक्ष्यों को आसानी से प्राप्त करते हैं.

शिक्षा- चाणक्य नीति कहती है कि शिक्षा से हर प्रकार के अंधकार को दूर किया जा सकता है. शिक्षा से ही व्यक्ति जीवन को सार्थक बनाता है. शिक्षा के महत्व को गंभीरता से जानना चाहिए. माता पिता को अपने बच्चों को सदैव शिक्षा ग्रहण करने के लिए प्रेरित करना चाहिए. संतान को अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए माता पिता को सजग और जागरूक होना चाहिए. अच्छी शिक्षा में ही सफलता का रहस्य छिपा हुआ है.

वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल