Wednesday, 08 December 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

यास बदल सकता है खतरनाक चक्रवाती तूफान में, पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में चेतावनी, सतर्कता

यास बदल सकता है खतरनाक चक्रवाती तूफान में, पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में चेतावनी, सतर्कता भुबनेश्वरः देश के पूर्वी समुद्र तटीय क्षेत्रों में तूफान यास का खतरा मंडरा रहा है. चक्रवाती तूफान ताउते पूरी तरह से गया नहीं कि बंगाल की खाड़ी में उठने वाला चक्रवाती तूफान यास जल्दी ही ओड़िशा और पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में दस्तक दे सकता है. मौसम विभाग की चेतावनी को मानें तो आज बंगाल की खाड़ी में हवा के कम दबाव के चलते यास के 24 मई तक तूफानी चक्रवात में तब्दील होने की संभावना है.

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक चक्रवाती तूफान बनने के साथ ही यास उत्तर पश्चिम दिशा की ओर बढ़ सकता है. अभी तक की स्थिति को देखते हुए चक्रवाती तूफान यास के 26 मई की शाम तक पश्चिम बंगाल-ओड़िशा के तटों तक पहुंचने की संभावना है.

चक्रवाती तूफान यास के खतरे को देखते हुए ओड़िशा सरकार ने तटीय जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया है. तूफानों से निबटने की ओड़िशा सरकार के अनुभवों की पूरी दुनिया लोहा मानती है. इस बीच केंद्र के अधीन राष्ट्रीय आपदा मोचन बल ने भी यास से निबटने के लिए पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में टीमों की तैनाती शुरू कर दी है.

याद रहे कि इससे पहले इसी माह चक्रवाती तूफान ताउते ने गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा समेत पश्चिमी हिस्से के कई राज्यों में अपना असर दिखाया. महाराष्ट्र, गुजरात में सबसे अधिक तबाही देखने को मिली, वहीं इस तूफान का असर दिल्ली-एनसीआर में भी देखने को मिला जहां लगातार बारिश हुई है.

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार तूफान यास 22 मई को उत्तरी अंडमान सागर और आसपास की पूर्व-मध्य बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है. जिसके आगामी दो दिन में धीरे-धीरे चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है.

एनडीआरएफ महानिदेशक एसएन प्रधान के मुताबिक पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में संभावित खतरे वाले क्षेत्रों में टीमें तैनात करना शुरू कर दिया गया है. तूफान यास 26 मई को तट से टकरा सकता है.

केंद्र सरकार ने आंध्र प्रदेश, ओड़िशा, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और अंडमान निकोबार द्वीप समूह को ये सुनिश्चित करने को कहा है कि स्वास्थ्य केंद्रों पर आवश्यक दवाओं तथा संसाधनों का स्टॉक रखा जाए. जिससे यास तूफान के दौरान किसी भी आपात स्थिति से निपटा जा सके.
अन्य प्रकृति लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख