Wednesday, 14 April 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

काशी कीर्ति सम्मान से हुए सम्मानित राकेश यादव रौशन

जनता जनार्दन संवाददाता , Apr 07, 2021, 20:01 pm IST
Keywords: काशी कीर्ति सम्मान   राकेश यादव रौशन   Yadav Raushan   Kashi Kirti Samman   Kashi Kirti Awardee Rakesh Raushan   राकेश यादव रौशRakeshन चंदौली  
फ़ॉन्ट साइज :
काशी कीर्ति सम्मान से हुए सम्मानित राकेश यादव रौशन
चन्दौली: चन्दौली जिले के सुप्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता एवं मतदाता जागरूकता अभियान के ब्रांड अम्बेसडर राकेश यादव रौशन को मुख्य अतिथि पद्मश्री चंद्रशेखर सिंह के हाथों काशी कीर्ति सम्मान से सम्मानित किया गया। यह कार्यक्रम परफेक्ट मिशन की सातवीं वर्षगांठ पर वाराणसी के शास्त्री घाट पर मंगलवार को आयोजित था। 
    
जिले के चहनियां ब्लॉक के मारूफपुर गांव निवासी राकेश रौशन की पहचान प्रदेश में एक सामाजिक कार्यकर्ता एवं नामचीन पत्रकार की है। दिव्यांगता, पर्यावरण संरक्षण, मतदाता जागरूकता, महिला जागरूकता, सेनिटेशन आदि के क्षेत्र में इनके द्वारा लंबे समय से कार्य किया जा रहा है। पिछले साल जब पूरे देश में लॉक डाउन हुआ, तब ये अपने चंद साथियों के साथ अपनी जान जोखिम में डालकर अपनी संस्था पूर्वांचल युवा शक्ति सेवा ट्रस्ट के बैनर तले प्रतिदिन 350-400 जरूरतमंद लोगों को लगातार दो महीनों तक अपने निजी खर्च से भोजन, अनाज, साबुन, सेनिटाइजर, मास्क आदि उपलब्ध कराते रहे। इनकी निःस्वार्थ सामाजिक सेवाओं को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने इन्हें वर्ष 2017 में उत्तर प्रदेश सरकार के *रोल मॉडल अवार्ड* से पुरस्कृत किया। इनके साथ ही साल 2018 में पूर्व राज्यपाल महामहिम रामनाईक जी ने निर्वाचन विभाग उत्तर प्रदेश सरकार के सबसे बड़े पुरस्कार *बेस्ट इलेक्टोरल प्रैक्टिसेज अवार्ड* से पुरस्कृत किया। यहीं पुरस्कार दुबारा इन्हें राज्यपाल महामहिम आनंदी बेन पटेल जी के प्रतिनिधि के रूप में वर्ष 2020 में चन्दौली के तत्कालीन डीएम नवनीत सिंह चहल एवं एसपी हेमंत कुटियाल ने प्रदान किये। इस प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार के तीन पुरस्कारों से पुरस्कृत होने वाले जनपद के प्रथम व्यक्ति होने का गौरव भी राकेश रौशन को प्राप्त हैं। इसके अलावा अब तक देश भर की सैकड़ों सामाजिक संस्थाओं द्वारा राकेश रौशन को विभिन्न सम्मानों से सम्मानित किया जा चुका है।
 
हालांकि राकेश रौशन जी एक दिव्यांग हैं और चन्दौली जिले के दिव्यांग आईकॉन भी। किन्तु इन्होंने अपने को कभी भी दिव्यांग नहीं माना। आपका मानना है कि  हर व्यक्ति को अपने कर्म पूरी ईमानदारी और साफ नीति नियत से करनी चाहिए। यदि आपके इरादे नेक होंगे तो, परिणाम  भी सुखद और नेक ही आएंगे। कोई भी जीत मन से होती है, तन से नहीं। उन्होंने कहा कि मन के हारे हार है, मन के जीते जीत। लक्ष्य केंद्रित प्रयास हमेशा सुखद परिणाम देता है। हम सभी को अपने जीवन के कुछ अंश ऐसे लोगों को देने चाहिए, जो हमसे भी ज्यादा जरूरतमंद हैं।
 
राकेश रौशन को काशी कीर्ति सम्मान मिलने पर क्षेत्र के मानव ख़िदमत फाउंडेशन के मैनेजिंग ट्रस्टी डॉ. नदीम अशरफ, डॉ. डी. आर. यादव, वरिष्ठ समाजसेवी आरबी यादव, अखिलेश अग्रहरि, गुलशन यादव, रविन्द्र यादव, हरिनाथ सिंह यादव, बीएल यादव फ़ौजी, धर्मेंद्र यादव, बलवंत प्रधान, रामअवध यादव निवर्तमान प्रधानपति, पिंटू रसराज, मुकेश मौर्या, अमित यादव, सतीश सेठ आका, जनाब शौकत अली, मुख्तार यादव, राजेश यादव, रविन्द्र यादव, रहमत अली, कमरुजमा, घंटु यादव, कमलेश यादव, अंगद यादव, रामअवध यादव महमदपुर आदि लोगों ने प्रसन्नता व्यक्त की
अन्य प्रांत लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack