Wednesday, 14 April 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

पीएम मोदी ने स्वीकार किया बाइडेन का न्योता

जनता जनार्दन संवाददाता , Apr 03, 2021, 18:18 pm IST
Keywords: America   Pollution   Joe Biden   America President  
फ़ॉन्ट साइज :
पीएम मोदी ने स्वीकार किया बाइडेन का न्योता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जलवायु शिखर सम्मेलन ( Climate Summit ) में शामिल होने के अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के निमंत्रण को स्वीकार कर लिया हैविदेश मंत्रालय ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहाबाइडेन प्रसाशन द्वारा 22-23 अप्रैल को इस ऑनलाइन शिखर सम्मेलन का आयोजन किया जाएगा

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने एक ऑनलाइन प्रेस वार्ता में बतायाराष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस वैश्विक जलवायु शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को आमंत्रित किया थाअमेरिकी प्रशासन द्वारा 22-23 अप्रैल को आयोजित इस कार्यक्रम में जलवायु परिवर्तन को ध्यान में रखते हुए कई बड़े निर्णय लिए जा सकते हैंप्रधानमंत्री ने अमेरिकी राष्ट्रपति के इस कदम की सराहना की है और उनके निमंत्रण को स्वीकार कर लिया है.  

भारत की यात्रा पर आएंगे बाइडेन के विशेष दूत

जलवायु परिवर्तन से जुड़े मामलों पर जो बाइडेन के विशेष दूत जॉन कैरी 5 से 8 अप्रैल तक भारत के दौरे पर रहेंगेकैरी के इस दौरे को लेकर अरिंदम बागची ने कहाअपने इस दौरे के दौरान वो जलवायु शिखर सम्मेलन के साथ ही इस वर्ष के अंत में होने वाले संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) को लेकर भी जरूरी वार्ता करेंगेबागची ने कहा, "अपने इस दौरे के दौरान कैरीदेश के विदेश मंत्रीवित्त मंत्री और पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री समेत कई शीर्ष नेताओं से मुलाकात कर सकते हैं."

इस से पहले कैरी ने भी ट्वीट करते हुए कहा था, ‘जलवायु संकट से निपटने के लिए भारतअमीरात और बांग्लादेश में दोस्तों के साथ सार्थक चर्चा को लेकर उत्साहित हूं.’

जीवाश्म ईंधन से होने वाले प्रदूषण पर लगेगी रोक

बाइडन प्रशासन इस आयोजन के लिए पूरी तरह से तैयार हैवहीं इस समिट में जलवायु परिवर्तन को ध्यान में रखते हुए कई बड़े निर्णय लिए जा सकते हैंसूत्रों के अनुसार प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि इस आयोजन के जरिए अमेरिका जीवाश्म ईंधन से होने वाले जलवायु प्रदूषण को कम करने के लिए अहम कदम उठा सकता है.

अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय व्हाइट हाउस की ओर से जारी किए गए आधिकारिक बयान में कहा गया है, 'यह ग्लासगो में इस साल नवंबर में होने वाले संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) के मार्ग में एक मील का पत्थर होगा.'

इन देशों के नेताओं को किया गया है आमंत्रित

बाइडन प्रशासन ने इस शिखर सम्मेलन के लिए 40 देशों के शीर्ष नेताओं को आमंत्रित किया हैप्रधानमंत्री मोदी के अलावा चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंगरूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिनजापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगाब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारोकनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडोइजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहूसऊदी अरब के शाह सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सऊद और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को आमंत्रित किया गया है.

अन्य अंतरराष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack