Sunday, 26 September 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

एनसीडीसी और मत्स्य पालन विभाग ने प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना पर चांदीपुर में राज्य स्तरीय कार्यक्रम किया

एनसीडीसी और मत्स्य पालन विभाग ने प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना पर चांदीपुर में राज्य स्तरीय कार्यक्रम किया बालासोर: ओड़िशा राज्य के चांदीपुर में प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) पर राज्य स्तरीय जागरूकता-सह-प्रशिक्षण कार्यक्रम लक्ष्मणराव इनामदार नेशनल एकेडमी फॉर कोऑपरेटिव रिसर्च एंड डेवलपमेंट, राष्ट्रीय सहकारी विकास बैंक (एनसीडीसी) और भारत सरकार के मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के अधीन मत्स्य पालन विभाग द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया गया.

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी, एनसीडीसी के प्रबंध निदेशक संदीप कुमार नायक, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद में मत्स्य पालन के उप-महानिदेशक डॉ. जे. के. जेना, लिवलीहुड अल्टर्नेटिव (आजीविका विकल्प) के सीईओ सम्बित त्रिपाठी और एनसीडीसी, ओडिशा के क्षेत्रीय निदेशक शार्दुल जाधव ने प्रतिभागियों को संबोधित किया.

अपने संबोधन में केंद्रीय मंत्री सारंगी ने राज्य में मत्स्य पालन संबंधी बुनियादी ढांचे के विकास और क्षेत्र में सहकारी समितियों के गठन पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सहकारी समितियों का गठन और प्रौद्योगिकी का उपयोग ओडिशा में मछली पालन की विशाल संभावनाओं के दोहन में एक लंबा रास्ता तय कर सकता है.

यह देश में प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) के तहत आयोजित पहला राज्य स्तरीय जागरूकता कार्यक्रम था. इस कार्यक्रम में ओडिशा के सभी जिलों के 350 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया. कार्यक्रम में देश के विभिन्न राज्यों के प्रतिभागियों ने वर्चुअल मोड के माध्यम से भाग लिया.

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री ने देश में सहकारी क्षेत्र के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) की भूरी भूरी प्रशंसा की. याद रहे कि राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) केंद्रीय कृषि मंत्रालय के अंतर्गत एक सहकारिता केंद्रित वित्तीय संगठन है, जो सहकारी समितियों की आर्थिक सहायता के साथ ही मूल्यवर्धन उत्पादों के निर्यात में उनका मार्गदर्शन करता है.

इस अवसर पर राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) के प्रबंध निदेशक श्री संदीप नायक ने सभी सहभागियों को प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के कार्यान्वयन एजेंसी के रूप में एनसीडीसी की भूमिका पर एक संक्षिप्त जानकारी दी. उन्होंने कहा कि एनसीडीसी सहकारी समितियों के माध्यम से भारत में मत्स्य क्षेत्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद में मत्स्य पालन के उप-महानिदेशक डॉ. जे. के. जेना ने इस दिशा में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) की भूमिका से प्रतिभागियों को अवगत कराया.
अन्य प्रांत लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख