Sunday, 26 September 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

तेजी से बदलती आज की दुनिया में रोजगार के लिए कौशल

तेजी से बदलती आज की दुनिया में रोजगार के लिए कौशल
आज की तेज गति वाली और लगातार बदलती दुनिया में ज्ञान-प्राप्ति की पारम्परिक प्रविधियां सेवा-अवसर पाने की राह में कुछ ही दूरी तय कर पाती हैं। सेवा अवसरों में वांछित योग्यताएं तेजी से बदल जाती हैं, कंपनियां नए उत्पादों, सेवाओं और काम करने के तरीकों में तेजी से बदलाव करती हैं और यह महत्वपूर्ण है कि युवाओं को जैसे पारंपरिक स्कूल विषयों में शिक्षित किया जाता है वैसे ही जल्द से जल्द उन्हें आज की रोजगार की दुनिया में काम आने वाले कई अन्य कौशल भी सिखाए जाएं। 
 
लीक से हट कर

कंपनियां पारंपरिक शिक्षा के साथ ही नए डिजिटल कौशल वाले कर्मचारियों की तलाश में हैं, विशेष रूप से सोशल मीडिया में, उन्हें ऐसे कर्मचारियों की जरूरत है जिनमें सामाजिक आत्मविश्वास हो, टीम के रूप में अच्छा काम करना आता हो और जो "लीक से हट कर" सोचने में अभिनव हों। बड़ी कंपनियां अब अपनी रोजगार प्रक्रिया में औपचारिक शिक्षा के अलावा उत्कृष्ट सॉफ्ट स्किल वाले लोगों को प्राथमिकता दे रही हैं। आप अपने करियर में सफल होंगे या नहीं, यह इस बात पर निर्भर कर सकता है कि आप दूसरे लोगों से और काम से कैसे संबंध विकसित करते हैं।
 
सॉफ्ट स्किल्स – ये क्या होती हैं ?

सॉफ्ट स्किल्स का आशय ऐसे गैर-तकनीकी कौशलों हैं जिनका संबंध आपके काम करने के तरीके से होता है। इनमें संचार जैसे विषय शामिल हैं, जिसमें अच्छे संचार कौशल वाले लोग गलतफहमियों से बचने के लिए किसी बात को ध्यान से सुनने की और दूसरे कर्मचारियों, पर्यवेक्षकों अथवा साथियों से कार्यस्थल पर अपेक्षित कार्यों के बारे में प्रभावी तरीके से चर्चा कर सकने की योग्यता रखते हैं। इन कौशलों में निर्णय लेने की क्षमता भी शामिल होती है जो उन्हें संभव समाधानों के बीच चयन करने और फिर परिस्थिति के अनुरूप सही निर्णय लेने में सक्षम बनाती है। इन कौशलों में आत्मनिर्भरता जैसा महत्वपूर्ण कौशल भी शामिल है क्योंकि ऐसे लोगों को अपना काम प्रभावी ढंग से करने के लिए करीबी पर्यवेक्षण की आवश्यकता नहीं होती। इनमें सकारात्मक दृष्टिकोण भी शामिल है क्योंकि इस कौशल वाले लोग आमतौर पर काम में अच्छे होते हैं क्योंकि वे जीवन के बारे में सकारात्मक दृष्टिकोण रखते हैं और उन पर भरोसा किया जा सकता है कि वे वर्तमान कोविड महामारी जैसी कठिन स्थितियों में भी काम जारी रखेंगे। अन्य ऐसे कौशलों में नेतृत्व, समय प्रबंधन, आत्मनिर्भरता, भरोसेमंद होना, रचनात्मकता और कई अन्य कौशल हो सकते हैं।

व्यावहारिक प्राथमिकताओं की समझ

इसके अलावा, आज के दौर में रोजगार की तलाश कर रहे लोगों के लिए महत्वपूर्ण है कि वे कंपनियों में अनिवार्य और विशेष रूप से पश्चिमी यूरोप तथा संयुक्त राज्य अमेरिका में सरकारी अधिकारियों द्वारा विनियमित लिंग, जातीयता और सामान्य कार्यस्थल व्यवहार से संबंधित महत्वपूर्ण विनियामक आवश्यकताओं एवं व्यवहार संबंधी आवश्यकताओं को दी गई प्राथमिकताओं को समझें। आज के कार्यस्थल की आवश्यकताओं में कर्मचारियों में धोखाधड़ी और अनुपालन विनियमन की समझ होना तथा यह जानना भी शामिल है कि कार्यस्थल पर कर्मचारियों के कार्य किस तरह उनके नियोक्ताओं को भारी वित्तीय दंड और कामकाज को बंद करने की स्थितियों समेत कई अन्य तरह के दुष्परिणामों का शिकार बना सकते हैं। 

रोज़गार में सहायक अन्य कौशल

आज के दौर में कई अन्य आवश्यक कौशल हैं जो नियोक्ताओं द्वारा चयन की निर्णय प्रक्रिया पर प्रभाव डालते हैं। यदि पहले रोजगार की तलाश में निकले लोग कार्यस्थल संबंधी उपरोक्त आवश्यकताओं की समझ प्रदर्शित कर सकेंगे, तो उन्हें साक्षात्कार प्रक्रिया में और आगे चल कर कंपनी के वातावरण में जल्दी से घुल-मिल सकने तथा अपने लिए सफल करीअर पथ का निर्माण करने में महत्वपूर्ण लाभ होगा।
 
#हॉवर्ड शॉ एक वैश्विक शैक्षिक रणनीतिकार हैं जो इक्कीसवीं सदी में काम करने के भविष्योन्मुखी तरीकों से जुड़ी शैक्षिक आवश्यकताओं की समझ विकसित करने के क्रम में विभिन्न कंपनियों, सरकारों और शैक्षणिक संस्थानों के साथ काम कर रहे हैं, और वर्तमान निम्नलिखित पदों पर कार्यरत हैं.


Global Strategy Head-Edduus Education- www.edduus.io
S
trategy Board Qualifi-UK Awarding Body, London -London- www.qualifi.net
Strategy
 Advisor UK-IQ Limited, London - www.uk-iq.com
H
oward can be contacted at howard@uk-iq.com & howard@erin-vale.com
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख