चंदौली: विवेकानंद जयंती समारोह का हुआ आयोजन, विधायक सुशील सिंह हुए शामिल 

अमिय पाण्डेय , Jan 12, 2021, 17:00 pm IST
Keywords: BJP MLA   Sushil Singh MLA   Vivekanand Ji Jayanti   Bheem baba temple saiyadraja  
फ़ॉन्ट साइज :
चंदौली: विवेकानंद जयंती समारोह का हुआ आयोजन, विधायक सुशील सिंह हुए शामिल 
चन्दौली: ग्राम स्वराज मंच के तत्वाधान में विश्व हिंदू परिषद द्वारा संचालित एकल विधालय की एकल सप्ताह का आयोजन विवेकानंद जयंती पर हुआ जिसमें एकल विद्यालय की शिक्षिकायें व छात्र-छात्राएं शामिल हुए.यह कार्यक्रम भीम बाबा मंदिर प्रांगण में हुआ तदोपरांत 5 सीनियर सिटीजन समाजसेवी को सम्मानित किया गया।इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि सैयदराजा विधायक सुशील सिंह थे व अध्यक्षता वीरेंद्र जायसवाल ने किया व संचालन बच्चा बाबू अग्रहरी ने किया.
विधायक सुशील सिंह ने कहा कि भारत की धरती पर कई महात्माओं ने जन्म लिया है, जिनमें से एक महापुरुष स्वामी विवेकानंद भी हैं. भारत को आध्यात्म से जोड़ने वाले महापुरुष स्वामी विवेकानंद का जन्म आज ही के दिन 12 जनवरी सन् 1863 को कोलकाता में हुआ था. स्वामी विवेकानन्द के पिता विश्वनाथ दत्त कलकत्ता हाईकोर्ट के एक प्रसिद्ध वकील थे और उनके बचपन का नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था.

 
 
महज 39 साल का जीवन जीने वाले स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस (12 जनवरी) को देश में युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है. 1893 में अमेरिका के शिकागो में विश्व धर्म सम्मेलन में दिया उनका भाषण आज भी किसी भारतीय के द्वारा दिए गए सबसे प्रभावी भाषणों में माना जाता है. अपने संबोधन में स्वामी विवेकानंद ने सांप्रदायिकता, धार्मिक कट्टरता और हिंसा का जिस तरह से उल्लेख किया था वह आज सवा सौ साल के बाद भी उतने ही भयावह रूप में उपस्थित हैं. उन्होंने कहा था कि अगर यह बुराइयां न होतीं तो दुनिया आज से कहीं बेहतर जगह होती.वहीं शिक्षा का अलख भी स्वामी विवेकानंद जी ने जगाया हैं।।युवाओं के प्रति काफी सकारात्मक सोच विवेकानंद जी की रही हैं.
 
इससे पहले स्वामी विवेकानंद जी जयंती के अवसर पर 4 संच की शिक्षिकाओं द्वारा सैयदराजा नगर में प्रभातफेरी का आयोजन किया गया जिसमें विश्व हिंदू परिषद की एकल शाखा की शिक्षिकाओ द्वारा भीम बाबा मंदिर से पौहारी बाबा की कुटिया तक यह रैली निकाली गई।जिसमें मुख्य रूप से बच्चा बाबू अग्रहरि,सुशील शर्मा सैयदराजा किड्स पब्लिक स्कूल के प्रबंधक,मीना सिंह समाजसेवी,प्रदीप कुमार,नरेंद्र कुमार चौरसिया,शामिल रहे।
अन्य खास लोग लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल