केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं

जनता जनार्दन संवाददाता , Dec 17, 2020, 19:47 pm IST
Keywords: Agriculture Sector   Narendra Singh Tomar   Minister Of Agriculture  
फ़ॉन्ट साइज :
केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं दिल्ली: कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का किसानों के नाम एक खुला पत्र लिखा है. कृषि मंत्री ने 8 पन्नों के अपने पत्र में केंद्र के नए कृषि कानूनों की खूबियां गिनाई हैं. अपने लेटर में कृष मंत्री ने दोहराया है कि सरकार एमएसपी पर लिखित गारंटी देने को तैयार है. साथ ही उन्होंने कहा कि कुछ किसान संगठनों में कृषि कानूनों को लेकर भ्रम पैदा किया गया है.

तोमर ने अपने पत्र में कहा है, "मैं लगातार आपके (किसानों) के संपर्क में हूं. बीते दिनं मेरी अनेक राज्यों के किसान संगठनों से बातचीत हुई है. कई किसान संगठनों ने इन कृषि सुधारों का स्वागत किया है. वे इससे बहुत खुश है, किसानों को एक नई उम्मीद जगी है." वह लिखते हैं, "लेकिन इन कृषि सुधारों का दूसरा पक्ष यह भी कुछ किसान संगठनों में इन्हें लेकर एक भ्रम पैदा कर दिया गया है."

नरेंद्र सिंह तोमर ने लिखा है, "देश का कृषि मंत्री होने के नाते मेरा कर्तव्य है कि हर किसान का भ्रम दूर करूं, हर किसान की चिंता दूर करूं. मेरा दायित्व है कि सरकार और किसानों के बीच दिल्ली और आसपास के क्षेत्र में जो झूठ की दीवार बनाने की साजिश रची जा रही है. उसी सच्चाई और सही वास्तुस्थिति आपके सामने रूखूं."


बता दें केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ हजारों किसान दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं. किसानों की मांग है कि इन कानूनों को रद्द कर दिए जाए. किसानों और सरकार के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन कोई भी नतीजा नहीं निकल सका है. किसानों का यह आंदोलन चौथे हफ्ते में प्रवेश कर गया है और हजारों किसान सीमाओं पर जमे हुए हैं

अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack