Thursday, 26 November 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

वरिष्ठ नागरिकों का रेल किराया रियायत पुनः बहाल कराने के लिए सीनियर सिटीजन एसोसिएशन ने कसी कमर

वरिष्ठ नागरिकों का रेल किराया रियायत पुनः बहाल कराने के लिए सीनियर सिटीजन एसोसिएशन ने कसी कमर
पटना: कोरोना वायरस के कारण अस्थाई तौर पर स्थगित की गई वरिष्ठ नागरिकों को रेलवे के किराए में मिलने वाली रियायत को पुनः बहाल करवाने के लिए नेशनल सीनियर सिटीजन एसोसिएशन ने कमर कस ली है।इसके लिए स्थानीय फ्रेजर रोड में स्थित मारवाड़ी निवास में संघ के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने बैठक कर रणनीति पर चर्चा किया।जिसकी अध्यक्षता गगन सेन गुप्ता तथा संचालन विजय कुमार सिन्हा ने किया।बैठक में देश के वरिष्ठ नागरिकों की समस्यायों का समाधान के लिए विचार-विमर्श किया गया।
 
राष्ट्रीय महासचिव रामायण पांडेय एलोन ने कहा की सरकार बुजुर्गो की सुविधायों को खत्म करते जा रही है कोरोना महामारी का बहाना बना रेलवे किराये में पुरुष वरिष्ठ नागरिकों को 40 प्रतिशत तथा महिला यात्रियों को 50 प्रतिशत रियायत को अभी चलाई जा रही विशेष रेलगाड़ियों में नही दिया जा रहा है।जबकी पिछले दिनों जारी लॉकडॉउन के कारण बहुत से वरिष्ठ नागरिक अभीतक अपने घर नही लौट सके है।
 
गरीब तबके के बुजुर्गों को रेल यात्रायों में रियायत की शख्त जरूरत है जो पूर्व से उन्हें मिलती आ रही थी।उन्होंने कहा की एक तरफ सरकारी विमान कम्पनी एयर इंडिया के बेस किराये में वरिष्ठ नागरिकों को पूर्व की भांति पचास प्रतिशत की रियायत जारी है वही दूसरी तरफ रेलवे ने अबतक बुजुर्गों का रियायत पुनः बहाल नही है।उन्होंने कहा की संगठन इसके लिए हर सम्भव प्रयास कर रहा है,प्रधानमंत्री,रेलमंत्री तथा रेलवे बोर्ड से पत्राचार किया जा रहा है अगर जरूरत पड़ी तो आंदोलन भी किया जाएगा।
 
श्री एलोन ने बुजुर्गों के हक के लिए संघर्ष को जारी रखने का आह्वान संघीय पदाधिकारियों से किया।
 
चर्चा में पूर्व जिला जज अमरेन्द्रपति त्रिपाठी,पूर्व डीआईजी भगवत प्रसाद,भरत सिंह,डॉ. नीलिमा सिह,नरेंद्र सिंह,नाथुन प्रसाद सिंह,के.एन.शर्मा,गिरिधर पाठक,सूर्यनाथ सिह,वरीय अधिवक्ता सुमन सिह,उपेन्द्र सिह,विशेश्वर शर्मा,रामचंद्र प्रसाद,जगन्नाथ प्रसाद,प्रो.डीपी श्रीवास्तव,ललित कुमार सिन्हा,अनिल कुमार,महेंद्र मिश्रा, ई. श्याम नारायण ठाकुर,विजेंदर शर्मा,राजकुमार झा,अजित मिश्रा,अजित श्रीवास्तव सहित अन्य लोग शामिल हुए।
अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack