Wednesday, 03 March 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

क्या है ज्यादा वजन और गठिया रोग के बीच का संबंध

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 09, 2020, 11:29 am IST
Keywords: Life Style   News   Facenfacts   lIFE and Style   क्या है ज्यादा वजन  
फ़ॉन्ट साइज :
क्या है ज्यादा वजन और गठिया रोग के बीच का संबंध

एक नए शोध में वजन और गठिया के बीच का चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. शोध के मुताबिक वयस्कता से पहले और मध्य आयु में वजन घटा लेने पर गठिया के खतरे को कम किया जा सकता है. शोध को बोस्टन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ ने अंजाम दिया.


क्या है मोटापे और गठिया का संबंध ?


शोधकर्ताओं का मानना है कि जवानी का मोटापा और जोड़ों के बीच गहरा संबंध होता है. जवानी में जब मोटे लोगों ने अपना वजन सामान्य कर लिया तो उससे गठिया का खतरा टल गया. बोस्टन यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉक्टर एंड्रूय स्टोक्स ने बताया, “हमारा शोध बताता है कि सामाजिक और संरचनात्क कारक जैसे ज्यादा खाना और मोटापा किस तरह जोड़ों के दर्द को बढ़ाते हैं और ये रोग गठिया में बदलकर भयानक तकलीफ और अपंगता की वजह बन सकता है.”


शोधकर्ताओं ने किया चौंकानेवाला खुलासा


ये शोध जर्नल 'अर्थराइटिस केयर एंड रिसर्च' में प्रकाशित किया गया है. जिसमें कहा गया है कि अमेरिका में गठिया के 27 लाख मरीजों में एक चौथाई लोग ऐसे पाए गए जिनका वजन बढ़ा हुआ था. शोधकर्ताओं ने बड़े डाटा का इस्तेमाल करते हुए 40-69 साल के लोगों को सर्वे में शामिल किया. शोधकर्ताओं ने इस दौरान उनका वजन, BMI, हड्डियों और जोड़ों के दर्द की समस्याओं का अध्ययन किया. शोधकर्ताओं ने बताया कि सर्वे के 10 बरस में 13 हजार 669 लोगों में से 3 हजार 603 महिला और पुरुष गठिया के रोगी पाए गए. इस दौरान ये भी देखा गया कि वजन घटाने वाले लोगों में गठिया का खतरा भी कम हो गया.

वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack