Thursday, 24 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

केरल विमान हादसा: 18 की मौत, 170 बचाए गए

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 08, 2020, 12:10 pm IST
Keywords: Air India   Air India Flights   Air Flights   India   एअर इंडिया   जेट एयरवेज   केरल विमान हादसा   चीख-पुकार और एंबुलेंस  
फ़ॉन्ट साइज :
केरल विमान हादसा: 18 की मौत, 170 बचाए गए

कोझिकोड: केरल विमान हादसे में रेसक्यू ऑपरेशन पूरा हो गया है. दो पायलट समेत 18 लोगों के मारे जाने की पुष्टि हुई है वहीं 170 लोगों को बचा लिया गया है. एयर इंडिया विमान (IX-1344) में 190 लोग सवार थे, जिसमें 174 वयस्क यात्री, 10 बच्चे, 04 केबिन क्रू और 2 पायलट थे. घायलों को मल्लपुरम और कोझिकोड के अस्पतालों में एडमिट कराया गया है. विमान बारिश के कारण कोझिकोड हवाईपट्टी से फिसल गया और 35 फुट नीचे गिर गया और दो हिस्सों में टूट गया. ये हादसा शुक्रवार शाम 7.41 बजे हुआ.


चीख-पुकार और एंबुलेंस के सायरन की आवाज से दहला
दुबई से आ रहे विमान के एकाएक खाई में गिर जाने से यहां चारों ओर चीख-पुकार, खून से सने कपड़े, डरे सहमे रोते हुए बच्चे और एंबुलेंस के सायरन की आवाजों ने क्षेत्र को दहला दिया. बारिश के बीच, स्थानीय नागरिकों और पुलिस सहित बचाव कर्मियों ने विमान से घायल पुरुष और महिलाओं को बाहर निकालने में फुर्ती दिखाई. विमान तेज आवाज के साथ दो बड़े टुकड़ों में टूट गया और यात्रियों को समझ ही नहीं आया कि पल भर में क्या हो गया.


बचावकर्मियों ने लोगों को बाहर निकाला. इस दौरान चार से पांच साल के छोटे बच्चे बचाव कर्मियों की गोद में चिपके दिखाई दिए और यात्रियों का सारा सामान यहां वहां बिखरा था. तेज आवाज सुन कर स्थानीय लोग भी मदद के लिए दौड़ पड़े.

पीएम मोदी ने जताया हादसे पर दुख
बॉलीवुड हस्तियों से लेकर तमाम राजनेताओं ने विमान हादसे पर दुख जताया है. पीएम मोदी ने भी हादसे पर गहरा दुख जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, “कोझिकोड में हुए विमान हादसे से आहत हूं. मेरी संवेदनाएं उन लोगों के साथ हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया. घायल जल्द से जल्द ठीक हों ये प्रार्थना है. केरल के सीएम पिनरई विजयन जी से बात की. अधिकारी घटनास्थल पर हैं, प्रभावितों को सभी सहायता मिल रही है.”

क्या है हादसे का कारण
केरल विमान हादसे के कई कारण हो सकते हैं, जिसमें से एक सबसे बड़ा कारण खतरनाक रनवे माना जा रहा है. आमतौर पर रनवे पर बीच में भी लाइट होती है जिसे सेंटर लाइट कहा जाता है. इससे रात में लैंडिंग के दौरान रनवे का अंदाजा रहता है, लेकिन इस रनवे पर सेंटर लाइट नहीं थी. इस रनवे पर बड़े जहाज नहीं आते हैं, क्योंकि ये रनवे खतरनाक होता है.

 

खराब मौमस में ऐसे रनवे पर विजिबलिटी काफी कम रहती है, जिससे हादसे की संभावना रहती है. गुरुवार से ही कोझिकोड में तेज बारिश हो रही थी और मौसम काफी खराब था. माना जा रहा है कि इसी कारण एयर इंडिया एक्सप्रेस का विमान सही से लैंड नहीं हो पाया और वो फिसलकर खाई में गिर गया.

 

इस घटना के बाद दुबई स्थित भारत के महावाणिज्यिक दूतावास ने हेल्पलाइन नंबर  056 546 3903, 054 309 0572, और 054 309 0575  जारी किया है. इन नंबरों पर कॉल करके अपने संबंधियों के बारे में जानकारी ली जा सकती है.

वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट करते हुए कहा, “केरल के कोझिकोड में एयर इंडिया एक्सप्रेस विमान की दुखद दुर्घटना के बारे में पता चला. एनडीआरएफ को निर्देश दिया है कि वह जल्द से जल्द घटनास्थल पर पहुंचे और बचाव कार्य में मदद करें.”


अन्य हादसा लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack