दिल्ली में कोरोना मरीजों के बढ़ने के सभी रिकॉर्ड टूटे, 24 घंटे में 792 नए केस आए

जनता जनार्दन संवाददाता , May 27, 2020, 15:18 pm IST
Keywords: देश की राजधानी   कोरोना    मालवीय नगर थान   Delhi Capital   Delhi India   State News  
फ़ॉन्ट साइज :
दिल्ली में कोरोना मरीजों के बढ़ने के सभी रिकॉर्ड टूटे, 24 घंटे में 792 नए केस आए

दिल्ली: देश की राजधानी में कोरोना के मामलों में अब तक का सबसे बड़ा उछाल आया है. दिल्ली में कोरोना संक्रमितों की संख्या 15 हजार पार पहुच गई है. राजधानी में कोरोना के मामले बढ़कर 15257 हो गए. पिछले 24 घंटों में 792 नए मामले सामने आए. ये 24 घंटे में अब तक की सबसे बड़ी संख्या है. दिल्ली में कुल मौत 303 लोगों की कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है.

वहीं दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 310 मरीज ठीक भी हुए हैं. ठीक होने वाले मरीजों की संख्या अब 7264 हो गई है. फिलहाल दिल्ली में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या 7690 है.

मालवीय नगर थाने में पहुंचा कोरोना
दिल्ली पुलिस में कोरोना संक्रमण का मामला अब थमने का नाम नहीं ले रहा है. अब तक 250 से ज्यादा पुलिसकर्मी इसकी चपेट में आ चुके हैं. हाल ही में पता चला है कि अब कोरोना दक्षिणी दिल्ली के मालवीय नगर थाने में पहुंच गया है. यहां 10-11 पुलिसकर्मी संक्रमित पाये जाने से हड़कंप मचा हुआ है.

दिल्ली में चांदनी महल थाने के बाद मालवीय नगर दूसरा ऐसा थाना है जहां 10-11 पुलिसकर्मी एक साथ कोरोना संक्रमित निकले हैं. हांलांकि इससे पहले कोरोना का कोहराम दिल्ली पुलिस की अशोक विहार पुलिस कालोनी में भी मच चुका है. यहां अभी भी तमाम कोरोना संक्रमित होम क्वारंटीन हुए हैं.

देश में कोरोना मामलों की संख्या 1,51,767 पहुंची
देश भर में कोरोना पीड़ितों की संख्या 1 लाख 51 हजार 767 हो गई है, जिसमें 83 हजार लोग अभी भी कोरोना पॉजिटिव हैं. इधर बुधवार तक देश भर में कोरोना वायरस से 64,425 लोग स्वस्थ भी हो गए हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक बुधवार सुबह तक देश में 4,337 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

अंडमान निकोबार और मिजोरम में अब तक कोरोना मुक्त राज्य बना हुआ है. जबकि बुधवार सुबह तक महाराष्ट्र में कोरोना के सबसे अधिक मामले दर्ज किए गये हैं. महाराष्ट्र में अब तक 54,758 लोग कोरोना वायरस से पीड़ित बताये गए हैं, जबकि 16,954 लोग इस वायरस से स्वस्थ हो चुके हैं. यहां 1,792 लोगों की मौत हो चुकी है.

अन्य दिल्ली, मेरा दिल लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack