Thursday, 03 December 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

कोरोना काल में पत्रिका का प्रकाशन एक अति प्रशंसनीय प्रयास: कृष्णकांत श्रीवास्तव

कोरोना काल में पत्रिका का प्रकाशन एक अति प्रशंसनीय प्रयास: कृष्णकांत श्रीवास्तव
वाराणसी: कोरोना काल में कला साहित्य संस्कृति वह सामाजिक सरोकार की मासिक पत्रिका सच की दस्तक का प्रकाशित संयुक्तांक  एक अति प्रशंसनीय प्रयास है ।इस प्रकाशन के लिए पत्रिका के संरक्षक सम्पादक सहित समस्त सहयोगी बधाई के पात्र हैं ।मैं इनकी उत्तर उत्कर्ष की कामना करता हूं ।उक्त बातें नगर के वरिष्ठ रंगकर्मी व कलम चलती रहे पुस्तक के लेखक कृष्णकांत श्रीवास्तव ने एकल लोकार्पण करते हुए अभिव्यक्त किया ।उन्होंने बताया कि कोविड-19 विश्वव्यापी बीमारी में सामाजिक एवं भौतिक दूरी से उत्पन्न व्यवस्था सृजनशीलता के लिए सर्वोत्तम समय है। मुझे विश्वास है कि पत्रिका में प्रस्तुत विविध लेखन सामग्री बुद्धिजीवियों के लिए मानस सुधा सिद्ध होगी ।मैं पिछले 3 वर्षों से इस पत्रिका पाठक रहा हूं और कुछ अंकों में साहित्यिक एवं आध्यात्मिक स्तम्भो के लिए लिखने का भी शुभ अवसर प्राप्त हुआ है ।
अन्य साहित्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack