Wednesday, 03 June 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

आर्थिक पैकेज 20 लाख करोड़ रुपये कितना होता है?

जनता जनार्दन संवाददाता , May 13, 2020, 11:54 am IST
Keywords: Explained   20 Trillian   Narendra Modi   Prime Minister Narendra Modi   Namo   20 लाख करोड़   कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ   
फ़ॉन्ट साइज :
आर्थिक पैकेज 20 लाख करोड़ रुपये कितना होता है?

Delhi: कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा से एक सवाल किया था कि पांच ट्रिलियन में कितने ज़ीरो होते हैं. पूरे देश-दुनिया के सोशल मीडिया पर उस सवाल की खूब चर्चा हुई थी. गौरव वल्लभ ने बताया भी था कि ट्रिलियन में एक पर 12 जीरो होते हैं. अब ऐसा ही सवाल एक बार फिर है कि पीएम मोदी ने कोरोना के लिए 20 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक पैकेज दिया है. लेकिन इस 20 लाख करोड़ रुपये में कितने जीरो होते हैं.


तो 20 लाख करोड़ रुपये में 2 पर 13 ज़ीरो लगेंगे. यानि कि पीएम मोदी ने फिलहाल 20 ट्रिलियन के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है. अब ये होता कितना है, इसे समझते हैं. तो भारत का कुल सकल घरेलू उत्पाद यानि कि जीडीपी है करीब 217 ट्रिलियन. अब प्रधानमंत्री ने जिस आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है, वो इस रकम का 10 फीसदी से थोड़ा ज्यादा ही होता है. इसे थोड़ा और आसान करने की कोशिश करते हैं.


# भारत सरकार ने साल 2019-20 में टैक्स रेवेन्यू औऱ नॉन टैक्स रेवेन्यू के जरिए 18.45 लाख करोड़ रुपये की कुल आमदनी की थी. ये आर्थिक पैकेज सरकार की एक साल की कुल आमदनी से भी ज्यादा है.


# भारत सरकार ने साल 2020-21 के लिए बजट में सकल कर राजस्व के तौर पर 2,423,020 करोड़ रुपये के सकल कर राजस्व का अनुमान लगाया था. आर्थिक पैकेज इससे थोड़ा ही कम है. हालांकि कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन को देखने के बाद ये साफ है कि केंद्र सरकार उतना सकल कर राजस्व नहीं वसूल कर पाएगी, जितना उसने बजट में अनुमान लगाया था.


# केंद्र सरकार ने साल 2020-21 के बजट में कुल 3,042,230 करोड़ रुपये के खर्च का अनुमान लगाया है. यानि कि जिस आर्थिक पैकेज की घोषणा हुई है, उसकी करीब डेढ़ गुनी ज्यादा रकम. अब इस खर्च में 20 लाख करोड़ रुपये का खर्च और बढ़ गया है, क्योंकि केंद्र की ओर से कोरोना से लड़ने के लिए इस पैसे की ज़रूरत है.


# मोदी सरकार का ये राहत पैकेज भारत सरकार के स्वास्थ्य बजट का करीब 30 गुना और भारत के रक्षा बजट का करीब 6 गुना है. भारत का स्वास्थ्य बजट करीब 69 हजार करोड़ रुपये है, जबकि रक्षा बजट करीब 3,05,296 करोड़ रुपये है. राज्यों के हिसाब से सबसे बड़ा बजट उत्तर प्रदेश का होता है. पीएम मोदी का ये आर्थिक पैकेज उत्तर प्रदेश के कुल बजट का चार गुने से थोड़ा ही कम है. यूपी का कुल बजट करीब 5.12 लाख करोड़ है.


# भारत के सबसे अमीर आदमी हैं मुकेश अंबानी. उनकी कुल संपत्ति है करीब चार लाख करोड़ रुपये. प्रधानमंत्री ने जिस राहत पैकेज का ऐलान किया, वो राहत पैकेज मुकेश अंबानी की कुल संपत्ति का करीब पांच गुना है. दुनिया के सबसे अमीर आदमी जेफ बेजोस की कुल संपत्ति की तुलना में पीएम मोदी का राहत पैकेज करीब ढाई गुना ज्यादा है.


# अगर तुलना पाकिस्तान के बजट से करें तो भारत का ये आर्थिक पैकेज पाकिस्तान जैसे देश के कुल बजट का करीब 6 गुना ज्यादा है. पाकिस्तान सरकार ने साल 2019-20 में करीब 3.30 लाख करोड़ रुपये का बजट पेश किया था.


अब आपको शायद इस बात का अंदाजा हो गया होगा कि ये रकम कितनी बड़ी है. हालांकि प्रधानमंत्री ने एक बात और साफ की है. वो ये है इस 20 लाख करोड़ रुपये में केंद्र सरकार की ओर से पहले से की गई घोषणाएं, रिजर्व बैंक की ओर से की गई घोषणाएं और 12 मई को किए गए ऐलान सब शामिल हैं. 20 लाख करोड़ का ऐलान अकेले 12 मई को ही नहीं किया गया है.

वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack