चंदौली: माँ खंडवारी देवी इंटर कॉलेज सहित दर्जनों कॉलेज पर बोर्ड परीक्षा के मद्देनजर डीएम ने किया निरीक्षण

अमिय पाण्डेय , Feb 17, 2020, 17:26 pm IST
Keywords: Maa Khandwari PG   Maa Khandwari Intermediate Collage   Maa Khandwari Chahniya   माँ खंडवारी इंटर कॉलेज   बोर्ड परीक्षा  
फ़ॉन्ट साइज :
चंदौली: माँ खंडवारी देवी इंटर कॉलेज सहित दर्जनों कॉलेज पर बोर्ड परीक्षा के मद्देनजर डीएम ने किया निरीक्षण
चंदौली: माध्यमिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश प्रयागराज द्वारा संचालित बोर्ड परीक्षा वर्ष 2020 की तैयारियों का निगरानी के लिए जनपद के सकलडीहा इंटर कॉलेज, माँ खंडवारी देवी इंटर कॉलेज चहनियां, जटाधारी इंटर कॉलेज मारूफपुर, हाजी मुहम्मद अयूब मेमोरियल इंटर कालेज नैढ़ी का जिलाधिकारी  नवनीत सिंह चहल एवं पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने भ्रमण कर जायजा लिया। 
 
इस दौरान सीसी कैमरे, प्रश्न-पत्र रखे हुए अलमारी, परीक्षा कक्ष में लगी खिड़की को बारीक जाली से बंद करने के निर्देश दिए। हाजी मुहम्मद अयूब मेमोरियल इंटर कालेज नैढ़ी में इन्वर्टर न रहने पर सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि सायंकाल तक लगाकर जिला विद्यालय निरीक्षक को अवगत कराया जाय। साथ ही यदि विद्यालय में नकल करते हुए पकडे जायेगे तो प्रबंधन के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराई जाएगी इसके साथ आपके विद्यालय को ब्लैकलिस्टेड कर दी जाएगी। जिलाधिकारी ने दो टूक में कहा परीक्षा में किसी प्रकार की ढिलाई नहीं दी जाएगी। उन्होंने चेतावनी दी कि नकल करने और कराने वालों को सीधे जेल भेजा जाएगा।
 
कहा कि परीक्षा केंद्र के मुख्य गेट पर ही परीक्षार्थियों की तलाशी ले ली जाए। परीक्षार्थी व कक्ष निरीक्षक को इलेक्ट्रानिक उपकरण व अन्य प्रतिबंधित वस्तुएं नहीं ले जाने दिया जाएगा। परीक्षा केंद्र के अंदर नकल की गतिविधि न हो यह केंद्र व्यवस्थापक की जिम्मेदारी है। ऐसे में पकड़े जाने पर केंद्र व्यवस्थापक को जेल भेजा जाएगा। सभी मजिस्ट्रेट लगातार परीक्षा केंद्रों पर भ्रमण करते रहेंगे। 
 
जिलाधिकारी ने व्यवस्थापको को निर्देशित करते हुए कहा कि परीक्षा को सुचितापूर्ण व पारदर्शी ढंग से कराने के लिए सभी केंद्रों की वेबकास्टिंग से ऑनलाइन मानीटरिंग की जाएगी। व्यवस्थापक अपने इंटरनेट की सुविधा को दुरूस्त रखेंगे। सभी केंद्र व्यवस्थापक अपने सेक्टर मजिस्ट्रेट को एक बार अपने सभी कक्षों को दिखा लें। जहां छोटी-मोटी कमियां हों उसे दुरूस्त करा लें। 

डीएम ने कहा कि परीक्षा केंद्र के 200 मीटर की दूरी तक किसी भी प्रकार की व्यवसायिक गतिविधि नहीं होनी चाहिए। इस परिधि में सभी दुकानें बंद रखी जाएंगी। जिलाधिकारी ने कहा कि पिछले वर्ष की परीक्षा में यह बात सामने आयी थी कि कुछ परीक्षा केंद्र पर बिजली नहीं होने का हवाला देकर कैमरा बंद करा दिया गया था। ऐसे में बिजली नहीं होने पर वैकल्पिक व्यवस्था अवश्य कर लें। अन्यथा इसे संदिग्ध मानते हुए कार्रवाई की जाएंगी। प्रश्न पत्रों को खोलते समय किसी भी शिक्षक/कर्मचारी के पास मोबाइल व कैमरा न हो इसका विशेष ध्यान रखा जाए, केंद्र व्यवस्थापक को निर्देशित करते हुए कहा प्रश्नपत्रों को लोहे की मजबूत अलमारी डबल लॉक में रखे जाए। जिस कक्ष में प्रश्न पत्र रखी जाएगी वहां पर 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे चालू रहेंगे तथा उसकी रिकॉर्डिंग रखी जाएगी। 
     
 
जिलाधिकारी चहल ने बताया कि जनपद में बोर्ड परीक्षा वर्ष 2020 हेतु जनपद में 95 परीक्षा केंद्र को चयनित किया गया है। जिसमें चार राजकीय माध्यमिक विद्यालय, 32 अशासकीय सहायता प्राप्त, 59 वित्तविहीन माध्यमिक विद्यालय शामिल हैं। इसी क्रम में जनपद में हाईस्कूल परीक्षा में बैठने वाले बालक 19943 एवं बालिका 18310 सम्मिलित हैं। इसी प्रकार इंटरमीडिएट परीक्षा में बैठने वाले बालक 17596 एवं बालिका 14398 है। साथ ही बताया कि हाईस्कूल/इंटरमीडिएट संस्थागत/व्यक्तिगत बालक/ बालिका का संपूर्ण योग जो परीक्षा में सम्मिलित हो रहे हैं 70247 हैं। 
 
इसके अलावा पांच-पांच विद्यालय संवेदनशील, अतिसंवेदनशील के श्रेणी में है। उक्त परीक्षा के नकल की प्रवृत्ति  संभावनाओं पर अंकुश लगाने परीक्षा की शुचिता, पवित्रता,  गुणवत्ता,  विश्वसनीयता  को बनाए रखने की दृष्टि से जनपद को पांच जोनल मजिस्ट्रेट, 19 सेक्टर मजिस्ट्रेट, दस स्टैटिक मजिस्ट्रेट एवं पांच सचल दल लगाए गए हैं। निरीक्षण के दौरान जिला विद्यालय निरीक्षक विनोद राय सहित अन्य लोग उपस्थित थे।
 
अन्य शिक्षा लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack