Breaking News: 26 जनवरी परेड में शामिल नहीं होगी बिहार की झांकी

जनता जनार्दन संवाददाता , Jan 05, 2020, 13:41 pm IST
Keywords: Bihar news   Bihar CM   Bihar News   Republic Day   गणतंत्र दिवस समारोह   बिहार की झांकी   
फ़ॉन्ट साइज :
Breaking News: 26 जनवरी परेड में शामिल नहीं होगी बिहार की झांकी

पटना: इस बार 26 जनवरी को दिल्ली के राजपथ पर परेड के दौरान बिहार की झांकी नजर नहीं आएगी. बिहार की झांकी को गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल नहीं किया गया है. इस बार झांकी की थीम सीएम नीतीश कुमार के ड्रीम प्रोजेक्ट जल-जीवन-हरियाली पर आधारित थी. बिहार की झांकी को रक्षा मंत्रालय की ओर से मंजूरी नहीं मिली.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आजकल पूरे बिहार में अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का काम देखने के लिए दौरा कर रहे हैं. 26 जनवरी के परेड में बिहार की झांकी के शामिल नहीं करने पर वो दुखी हैं लेकिन साथ ही ये भी कह रहे हैं कि इससे परेशान होने की जरूरत नहीं है. खगड़िया में एक कार्यक्रम के दौरान नीतीश ने कहा, ''कुछ लोग बिना मतलब के चर्चा में लगे हुए हैं कि इस बार 26 जनवरी को जल-जीवन-हरियाली की झांकी नहीं देखेगी, ऐसे प्रश्नों का क्या मतलब है.''

मुख्यमंत्री ने कहा, ''देश में अन्य काम किए जा रहे हैं जिसे गणतंत्र दिवस पर दिखाया जाएगा. बिहार से संबन्धित चीजों पर पहले भी गणतंत्र दिवस पर दिखाया गया है. इससे परेशान होने की ज़रूरत नहीं है."

बता दें कि हाल ही में बिल गेट्स पटना आए थे. नीतीश ने उन्हें बिहार में जलवायु परिवर्तन के लिए उनकी सरकार द्वारा किए जा रहे काम को बताया था. नीतीश अपने भाषण में बिल गेट्स के उस बयान की भी चर्चा करते हैं, जिसमें बिल गेट्स ने दिल्ली में एक इंटरव्यू के दौरान नीतीश के कामों की सराहना की थी.


गणतंत्र दिवस पर बिहार की झांकी शामिल नहीं किए जाने पर राबड़ी देवी ने तंज भी कसा था. राबड़ी और तेजस्वी ने इस अभियान में घोटाला होने का आरोप लगाया. राबड़ी ने कहा कि "24500 करोड़ के जल-जीवन हरियाली घोटाले को सही ठहराते हुए केंद्र सरकार ने गणतंत्र दिवस पर इसकी झाँकी को नहीं शामिल करने का निर्णय किया है.


पिछले साल भी शराबबंदी की झांकी को मना किया था क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति इसकी सच्चाई और नतीजों से अवगत है. सरकारी ख़ज़ाने को हज़ारों करोड़ के राजस्व का नुक़सान कर शराब माफ़िया बिहार में हज़ारों करोड़ का समानान्तर उगाही कर सत्ताधारी पार्टी को फंड कर रहे है." नीतीश कुमार झांकी में शामिल नहीं किए जाने से आहत हैं लेकिन अपने ही मकसद पर काम करने को लेकर मजबूती बता रहे.

अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack