Sunday, 23 February 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

CAA और NRC को लेकर प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी को दिया धन्यवाद

जनता जनार्दन संवाददाता , Dec 24, 2019, 12:49 pm IST
Keywords: CAA   NRC   नागरिकता कानून   राहुल गांधी   प्रशांत किशोर   एनआरसी  
फ़ॉन्ट साइज :
CAA और NRC को लेकर प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी को दिया धन्यवाद

दिल्ली: नागरिकता कानून और एनआरसी को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले जेडीयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को धन्यवाद कहा है. यह धन्यवाद प्रशांत किशोर ने नागरिकात कानून और एनआरसी के खिलाप कांग्रेस के प्रदर्शन को लेकर कहा है. हालांकि इस धन्यवाद के साथ प्रशांत किशोर ने राहुल गांधी से मांग की है कि एनआरसी को कांग्रेस शाषित राज्य ना कहें.

प्रशांत किशोर ने ट्विटर पर लिखा, ''सीएए और एनआरसी के खिलाफ नागरिकों के आंदोलन में शामिल होने के लिए धन्यवाद राहुल गांधी जी. लेकिन जैसा कि आप जानते हैं कि पब्लिक प्रोटेस्ट के अलावा एनआरसी को रोकने के लिए जरूरी है कि राज्य भी इसे नकारें.'' उन्होंने आगे लिखा, ''हमें उम्मीद है कि आप कांग्रेस प्रेसिडेंट को मनाकर, आधिकारिक तौर पर घोषणा करवाएंगे कि कांग्रेस शासित राज्यों में NRC नहीं होगा.''

बता दें कि नागरिकता कानून और एनआरसी के खिलाफ प्रशांत किशोर खुलकर बोल रहे हैं. प्रशांत किशोर का कहना है कि यह कानून और एनआरसी देश के संविधान के खिलाफ हैं. प्रशांत किशोर ने एनआरसी को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री और उनकी पार्टी के मुखिया नीतीश कुमार से भी बात की थी. इसके बाद नीतीश ने एलान किया था कि बिहार में एनआरसी लागू नहीं की जाएगी.

 

नागरिकता कानून को लेकर क्या बोले राहुल गांधी
कांग्रेस पार्टी ने कल दिल्ली में राजघाट पर नागरिकता कानून के खिलाफ एक दिन का सत्याग्रह बुलाया था. इस कार्यक्रम में कांग्रस के तमाम नेता शामिल हुए. नागरिकता कानून को लेकर राहुल गांधी ने कहा, ''देश के दुश्मनों ने देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट करने के लिए पूरे प्रयास किए, लेकिन हमारे दुश्मन जो नहीं कर सके, वह आज पीएम नरेंद्र मोदी कर रहे हैं''

 

उन्होंने कहा, ''जहां तक कपड़ों की बात है, पूरा देश आपको आपके कपड़ों से पहचानता है. 2 करोड़ का कपड़ा आपने पहना था. आप बताइए, अर्थव्यस्था कैसे चौपट हो गई, युवाओं को रोजगार क्यों नहीं मिल रहा है. आप इन सबमें फेल रहे तो भारत को बांटने का काम शुरू कर दिया.''

 
 
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack