Tuesday, 22 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

यूपी के वो कौन से 20 जिले हैं जहां इंटरनेट बंद है?

जनता जनार्दन संवाददाता , Dec 20, 2019, 11:39 am IST
Keywords: CAA   CAB   Woman   Indian Citizenship   Pakistan   CAA Protest UP   Uttar Pradesh News   CAA UP News   लखनऊ   आगरा   गाजियाबाद   आजमगढ़  
फ़ॉन्ट साइज :
यूपी के वो कौन से 20 जिले हैं जहां इंटरनेट बंद है?

दिल्लीः नागरिकता कानून को लेकर देश भर में जारी विरोध प्रदर्शन को देखते हुए प्रशासन ने उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी है. दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भी इंटरनेट सेवा गुरुवार रात 10 बजे से 24 घंटे के लिए इंटरनेट कर दिया गया. साथ ही लखनऊ, प्रयागराज, मेरठ और आगरा समेत कई शहरों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है.


जिन जिलो में इंटरनेट बंद हैं

1. लखनऊ

2. प्रयागराज


3. सुल्तानपुर


4. अलीगढ़


5. आगरा


6. गाजियाबाद


7. मेरठ


8. बागपत


9. बुलंदशहर


10. हापुड़


11. मुजफ्फरनगर


12. शामली


13. सहारनपुर


14. संभल


15. मुरादाबाद


16. रामपुर


17. फिरोजबाद


18. मऊ


19. आजमगढ़


20. उन्नाव


एहतियातन प्रशासन ने प्रदेश के कई शहरों में हिस्सों में धारा 144 लागू कर दी है. सुरक्षा को देखते हुए लखनऊ, बुंदेलखंड और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं भी अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दी गई है. ये सभी परीक्षाएं शुक्रवार 20 दिसंबर से शुरू होनी थीं.


नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में गुरुवार को हुई हिंसा के बाद राज्य सरकार ने राजधानी में शनिवार दोपहर तक मोबाइल इंटरनेट एवं एसएमएस सेवाएं बंद दी.


देर रात जारी हुआ निर्देश


अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने इस संबंध में गुरूवार की देर रात निर्देश जारी किया. अवस्थी ने सरकारी आदेश में कहा है, ‘‘यह आदेश 19 दिसंबर को दोपहर बाद तीन बजे से 21 दिसंबर को दोपहर 12 बजे तक प्रभावी रहेगा.’’


इससे पहले एक अधिकारी ने बताया कि सोशल मीडिया पर किसी तरह के दुष्प्रचार और लोगों की भावनाएं भड़काने वाली कोई पोस्ट को प्रसारित होने रोकने के लिए राजधानी में शनिवार दोपहर तक मोबाइल इंटरनेट एवं एसएमएस सेवाओं को बंद कर दिया गया है.


हिंसक प्रदर्शन को लेकर योगी सरकार सख्त


उन्होंने बताया कि जुमे की नमाज होने की वजह से किसी तरह की कोई अशांति पैदा न हो, इस वजह से प्रशासन ने यह कदम उठाया है.


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हिंसक प्रदर्शन पर सख्त रुख अपनाया है और सार्वजनिक संपत्ति को हुई नुकसान की भरपाई उपद्रवियों की संपत्ति से करने की बात की थी.


उन्होंने कहा, ‘‘लोकतंत्र में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है. संशोधित नागरिकता कानून के विरोध के नाम पर कांग्रेस, सपा और वाम दलों ने पूरे देश को आग में झोंक दिया है.’’


गुरुवार को कई शहरों में हुआ प्रदर्शन


इससे पहले गुरुवार को देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन देखने को मिला था. प्रदर्शन दिल्ली के लालकिला, मंडी हाउस, जंतर-मंतर, यूपी में लखनऊ, संभल, बिहार में पटना, जहानाबाद, कर्नाटक में बेंगलुरु, मेंगलुरु, तेलंगाना के हैदराबाद, पश्चिम बंगाल के कोलकाता, गुजरात के अहमदाबाद समेत कई अन्य शहरों में प्रदर्शन देखने को मिला.


कर्नाटक के मैंगलोर में भी हिंसक विरोध प्रदर्शन देखने को मिला. हिंसा में दो लोगों की मौत हो गई है. शहर के 5 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. मैंगलोर में स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी घोषित कर दी गई है.


गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में भी हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ. शहर में अभी भी तनाव का माहौल बना हुआ है. हालांकि, स्थिति नियंत्रण मे है.


मुंबई में शांतिपूर्ण प्रदर्शन


नागरिकता कानून के विरोध में गुरुवार को मुंबई के अगस्त क्रांति मैदान में विरोध प्रदर्शन हुआ. इस प्रदर्शन में फरहान अख्तर से लेकर हुमा कुरैशी और सुशांत सिंह जैसे कई फिल्म स्टार्स शामिल हुए. ये प्रदर्शन पूरी तरह से शांतिपूर्ण रहा

अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack