Wednesday, 08 April 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

उन्नाव कांड को लेकर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- प्रदेश की योगी सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए

उन्नाव कांड को लेकर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- प्रदेश की योगी सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए

लखनऊ: उन्नाव कांड को लेकर समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मोर्चा खोल दिया है. अखिलेश विधानसभा के सामने धरने पर बैठ गए हैं. अखिलेश ने कहा कि पीड़िता को जलाने की घटना की जिम्मेदारी सरकार ले. उन्होंने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए. अखिलेश के साथ पार्टी के तमाम कार्यकर्ता भी वहां मौजूद हैं.

अखिलेश ने कहा उन्नाव की घटना भयावह है. बीजेपी के सरकार में 'ये पहली घटना नहीं है'. लाख कोशिशों के बाद भी उस बेटी को बचाया नहीं जा सका. अखिलेश ने उन्नाव में पहले हुई घटना का जिक्र करते हुए कहा कि अपराध का आरोप बीजेपी से जुड़े लोगों पर था इसलिए उस बेटी को न्याय नहीं मिल रहा था.

अखिलेश ने कहा बीजेपी सरकार कानून व्यवस्था को चुस्त द्रुस्त करने का राग अलापती रहती है पर एक बेटी की जान नहीं बचा सकी. उसकी मौत के लिए सरकार भी जिम्मेदार है. उन्होंने कहा बीजेपी सरकार में बेटियां न्याय मांग रही हैं.

अखिलेश ने कहा कि वो अपराधी तो वो हैं ही जिन्होंने उन्नाव के बेटी के साथ ये काम किया लेकिन योगी सरकार भी उतनी ही जिम्मेदार है.


अखिलेश इस मामले में त्वरित न्याय के साथ लापरवाही बरतने वाले पुलिस अधिकारियों पर भी जल्द से जल्द कड़ी कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं.


धरने के मद्देनजर विधानसभा जाने वाली रोड पर ट्रैफिक को रोक दिया गया. उस रास्ते को बंद कर दिया गया है. बता दें कि अखिलेश पहले भी महिला सुरक्षा और कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठाते रहे हैं. चाहे वो कुलदीप सेंगर का मामला हो, सोनभद्र हो या फिर ये उन्नाव कांड. बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़िता के परिवार से मिलने उन्नाव रवाना हो गई हैं.

गैंगरेप पीड़िता की मौत के बाद हर तरफ शोक की लहर है. इस मामले पर लगातार प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. इसी कड़ी में कांग्रेस सचिव प्रियंका गांधी ने भी अपनी बात रखी है. प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, ''मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़िता के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दे. यह हम सबकी नाकामयाबी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाए.''

सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं लेकिन ये उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून व्यवस्था को भी दिखाता है. प्रियंका पीड़िता के परिवार से मिलने उन्नाव रवाना हो गई हैं.

एक दूसरे ट्वीट में प्रियंका ने कहा, ''उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार को तत्काल पीड़िता को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसका FIR दर्ज करने से मना किया उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है?

उन्नाव पीड़िता की मौत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है. सीएम योगी ने कहा, '' यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है. बालिका की मौत अत्यंत दुखद है. उन्होंने पीड़िता के परिवार के प्रति पूरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि सभी अपराधी पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जा चुके हैं. मुकदमे को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाकर कड़ी सज़ा दिलाएंगे.

अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack