डीएम चन्दौली का फरमान किसानों की समस्याओं का तत्काल हो समाधान

डीएम चन्दौली का फरमान किसानों की समस्याओं का तत्काल हो समाधान
चन्दौली: डीएम चहल की अध्यक्षता में विकास भवन के सभागार में किसान दिवस की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि शासन की मंशा के अनुसार माह के प्रत्येक तीसरे बुद्धवार को किसान दिवस की बैठक आहूत होती है। उन्होंने किसानों की समस्याओं की जानकारी प्राप्त किया। जिलाधिकारी के समक्ष सकलड़ीहा तहसील के कुछ गाॅवों के खेतो में अभी भी पानी भरा रहने की जानकारी मिली तो सिंचाई विभाग के अभियन्ता को मौके पर जाकर तत्काल स्थलीय निरीक्षण कर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। 11 ट्यूबेल विद्युत दोष से खराब चल रहे को 15 दिन के अन्दर ठीक कराने के निर्देश नलकूप विभाग के अधिकारी को दिया कहा कि रिपोर्ट से अवगत करा दें.
 
जिलाधिकारी ने सभी किसानों से अपील किया कि जो किसान बन्धु अपना पंजीकरण नही कराये है वे तत्काल पंजीकरण करा लें जिससे धान की खरीद में किसी प्रकार की कोई बांधा उत्पन्न न होने पाये। प्रधानंत्री फसल बिमा योजना का लाभ किसानों को निश्चित रूप से मिले इसके लिए निरन्तर कैम्प व जनसम्पर्क कर किसानों को जानकारी दें। इस दौरान जिलाधिकारी ने मानक के अनुसार सिल्ट सफाई का कार्य समय से करने के निर्देश अधि0अभि0 सिंचाई को देते हुए कहा कि जनपद के अन्य ब्लाकों के राजवाहा और माइनरों की सफाई तत्काल कराना सुनिश्चित करें। सिल्ट सफाई की जानकारी स्थनीय किसान लोगों को भी दें। उन्होनंे कहा कि किसानों को सिंचाई के दौरान किसी भी प्रकार की कोई समस्या नही होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने कहा कि किसान दिवस में किसानों द्वारा किये गये शिकायतों एवं विधायक/सांसद द्वारा चिन्हित नहरों की सफाई प्राथमिकता के आधार पर तत्काल सुनिश्चित किया जाये। इसमें किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही बर्दास्त नही किया जायेगा.
 
जिलाधिकारी चहल ने किसानों से कहा कि खाद एवं बीज की पर्याप्त उपलब्धता है, किसान समय से खाद एवं बीज प्राप्त कर लें, यदि कही परेशानी होती है तो संबंधित विभाग को तत्काल अवगत कराया जा, ताकि तत्काल निराकरण किया जा सके। जिलाधिकारी ने किसानों से कहा कि जनपद में पर्याप्त धान क्रय केन्द्र की व्यवस्था की जा रही है। कहा कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) और शासन के निर्देश के बाद खेतों में फसल के अवशेष (पराली) जलाने वालों पर जिला प्रशासन सख्त है। पराली जलाने वालों की कड़ी निगरानी रखी जायेगी। साथ ही पराली जलाने पर जुर्माने का प्रावधान है। अन्त में समस्त अधिकारियों से कहा कि प्राप्त हुई शिकायतों का निस्तारण एक सप्ताह के अन्दर संबंधित अधिकारी कराना सुनिश्चित करें.
 
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 एके श्रीवास्तव, उपनिदेशक कृषि विजय सिंह, डिप्टी आरएमओ, जिला कृषि अधिकारी राजीव कुमार, अधिशासी अभियन्ता बन्धी प्रखण्ड, नलकूल सहित कृषक बन्धु उपस्थित थें.

अन्य गांव-गिरांव लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack