Thursday, 21 November 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

करतारपुर साहिब दर्शन: पाकिस्तान हर श्रद्धालु से 20 डॉलर फीस लेने पर अड़ा

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 20, 2019, 18:53 pm IST
Keywords: Kartarpur Corridor   Pakistan Agrees   Pilgrims   INDIA Pakistan   Darshan Kartarpur Sahib   करतारपुर साहिब दर्शन  
फ़ॉन्ट साइज :
करतारपुर साहिब दर्शन: पाकिस्तान हर श्रद्धालु से 20 डॉलर फीस लेने पर अड़ा

दिल्ली: करतारपुर साहिब के दर्शन के लिए आज से शुरू होने वाले रजिस्ट्रेशन को टाल दिया गया है. सूत्रों के मुताबिक इसकी मुख्य वजह फाइनल ड्रॉफ्ट पर पाकिस्तान की मौजूदा असहमति है. पाकिस्तान अभी भी 20 डॉलर प्रति श्रद्धालु फीस पर अड़ा हुआ है जिसका भारत विरोध कर रहा है. भारत चाहता है कि 20 डॉलर फीस न ली जाए. पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने भी पाकिस्तान से दर्शन के लिए फीस हटाने की मांग की है. भारत की ओर से PM मोदी 8 नवंबर को कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे जबकि पाकिस्तान की तरफ़ से यह 9 नवंबर को होगा.


बता दें कि काफी पैंतरेबाजी के बाद अब पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने फेसबुक पर एलान किया है कि 9 नवंबर को करतारपुर साहिब श्रद्धालुओं के लिए खोला जाएगा. इमरान खान ने फेसबुक पर लिखा, ''पाकिस्तान पूरी दुनिया के सिखों के लिए अपने दरवाजे खोलने के लिए तैयार है. करतारपुर प्रोजेक्ट का निर्माण कार्य अपने आखिरी चरण में पहुंच गया है और इसे 9 नवंबर 2019 को लोगों के लिए खेल दिया जाएगा.''

पाकिस्तान में पाकिस्तानी हिस्से वाले करतारपुर कॉरिडोर का काम आखिरी चरण में है. गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के मुख्य भवन में सफेद रंग का पेंट किया गया है. गुरुद्वारा साहिब के आसपास के प्रांगण में संगमरमर लगाने का काम पूरा हो चुका है, अब रगड़ाई हो रही है.

 

'सरकार निकालेगी समाधान'
करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान द्वारा फीस लगाए जाने को लेकर बीजेपी नेता और पूर्व सांसद जनरल वीके सिंह ने कहा कि हम प्रयास कर रहे हैं कि कोई भी फीस वहां जाने वाले दर्शनार्थियों को नहीं देनी पड़े. अगर पाकिस्तान फिर भी नहीं मानता है तो सरकार इसका समाधान निकाल लेगी और वहां पर दर्शन करने वालों को किसी प्रकार की कोई फीस नहीं देनी पड़ेगी.

 

बतौर यात्री दर्शन करने जाएंगे मनमोहन सिंह- विदेश मंत्री
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह करतारपुर साहिब जाएंगे तो लेकिन यात्री के तौर पर ना कि मुख्य अतिथि के तौर पर. बता दें कि पाकिस्तान ने पहले मनमोहन सिंह को उद्घाटन में शामिल होने का न्योता दिया था. इस पर भारत सरकार ने कहा था कि न्योते पर फैसला मनमोहन सिंह को ही लेना है.

पाकिस्तान ना जाने पाने वाले श्रद्धालुओं के लिए भी विशेष इंतजाम
हाल ही में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला और पंजाब सरकार के मंत्री सुखजिंदर रन्धावा ने कॉरिडोर के निर्माण कार्यों का निरीक्षण किया था. इस मौके पर रंधावा ने बताया कि उन सिख श्रद्धालुओं के लिए बड़ी खुशखबरी दी जो पाकिस्तान जाकर करतारपुर साहिब के दर्शन नहीं कर पाएंगे. सुखजिंदर रन्धावा ने बताया कि 60 फुट ऊंचा लिफ्ट वाला टावर बनाया जाएगा जहां से दूरबीन के जरिए गुरद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी. बता दें कि अभी भी दूरबीन के जरिए दर्शन की सुविधा है लेकिन नई व्यवस्था इससे बेहतर होगी.

ऑनलाइन होगा आवेदन, पासपोर्ट को देख कर मिलेगा परमिट
उन्होंने बताया कि जो लोग पाकिस्तान जा कर करतारपुर साहिब के दर्शन करना चाहेंगे, उन्हें एक महीना पहले ऑनलाइन आवेदन करना होगा, जिस के लिए अगले एक दो दिन में वेबसाइट शुरू कर दी जाएगी. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि जिन लोगों के आवेदन किसी कारण से रद्द हो जाएंगे वो चार दिन बाद फिर से आवेदन कर सकेंगे. उन्होंने कहा कि जो लोग ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते वह खुद जाकर अपना वीज़ा आवेदन भी कर सकते हैं. करतारपुर साहिब जाने के लिए पासपोर्ट तो ज़रूरी होगा लेकिन उस पर कोई भी मोहर नहीं लगाई जाएगी. पासपोर्ट को देख कर परमिट नुमा एक स्लिप बना कर दी जाए गई, जिस के ज़रिए वह पाकिस्तान जा सकेंगे.

दूसरी बार दर्शन के लिए करना होगा एक साल इंतजार

सुखजिंदर रन्धावा ने यह भी बताया कि जो श्रद्धालु पाकिस्तान जाकर एक बार करतापुर साहिब के दर्शन कर लेंगे वो दोबारा एक साल बाद ही जा सकेंगे. उन्होंने बताया कि एक दिन में पांच हज़ार श्रद्धालु ही पाकिस्तान जा पाएंगे, लेकिन प्रकाश परब जैसे दूसरे धार्मिक समागमों के अवसर पर श्रद्धालुओं की संख्या को बड़ा कर 10 हज़ार तक किया गया है.

अन्य यात्रा & स्थान लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack