ओपीनियन पोल: हरियाणा में फिर क्यों खिलेगा कमल?

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 18, 2019, 18:14 pm IST
Keywords: Haryana Opinion Poll 2019   Maharatra Opinion Poll 2019   महाराष्ट्र और हरियाणा   ओपीनियन पोल   कांग्रेस  
फ़ॉन्ट साइज :
ओपीनियन पोल: हरियाणा में फिर क्यों खिलेगा कमल?

दिल्ली: एबीपी न्यूज़ के खास फाइनल ओपीनियन पोल के आंकडे सामने आ चुके हैं जिसमें हरियाणा की तस्वीर साफ होती दिख रही है. नतीजे विपक्ष के लिए उतने ही चौंकाने वाले हैं जितने शायद लोकसभा चुनाव के रहे थे.

लाइव कार्यक्रम के दौरान एबीपी न्यूज़ के वरिष्ठ पैनलिस्ट विजय विद्रोही ने ओपीनियन पोल के नतीजों के लिए चौटाला परिवार में टूट और कांग्रेस में फूट की वजह को गिनवाया. साथ ही उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश का दौरा करने के बाद उन्होंने विपक्ष की कमजोरी को महसूस किया.

इसी बीच जब हरियाणा कांग्रेस की प्रवक्ता रंजीता मेहता ने ओपीनियन पोल के पूरे आयोजन को काल्पनिक और स्पॉन्सर्ड होने की ओर इशारा किया तो कार्यक्रम की एंकर रूबिका लियाकत ने उन्हें नतीजों के आने के बाद एक खुली चुनौती दी कि यदि नतीजे इसके बिल्कुल उलट हुए तो रंजीता मेहता अपने इन शब्दों के लिए माफी मांगेंगी. रंजीता मेहता ने भी चैनल के तीखे तेवर देख तुरंत इस बात को स्वीकारा कि वो ऐसा करेंगी.

इसी बीच भाजपा प्रवक्ता शाजिया इल्मी ने बीच में अपनी बात रखते हुए कांग्रेस प्रवक्ता के इन शब्दों की निंदा भी की.

कार्यक्रम में आगे जब कांग्रेस प्रवक्ता से पूछा गया कि सर्जिकल स्ट्राइक की इतनी बात होती है लेकिन ऐसा लग रहा है कि हरियाणा के चुनाव नतीजों में कांग्रेस पर दोहरी सर्जिकल स्ट्राइक हो गई है. इसके जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता से कोई सीधा जवाब देते नहीं बना.

ओपीनियन पोल के आंकडों को देख कर ऐसा लग रहा है कि एनडीए की लहर में विपक्ष का एक बार फिर सफाया संभव है.

महाराष्ट्र और हरियाणा में कल चुनाव प्रचार थम जाएगा. प्रचार खत्म होने से पहले एबीपी न्यूज ने सी वोटर के साथ दोनों राज्यों में लोगों का मूड जानने की कोशिश की है. इस सर्वे में हमने दोनों राज्यों के 29 हजार 550 लोगों से बात की है. सर्वे 16 सितंबर से 16 अक्टूबर के बीच किया गया है.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack