Saturday, 14 December 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

सरकार आदेश देगी तो IAF फिर से बालाकोट आतंकी कैंप पर हमला कर सकती है: चीफ आर के एस भदौरिया

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 04, 2019, 18:28 pm IST
Keywords: भारतीय वायुसेना   Iaf  
फ़ॉन्ट साइज :
सरकार आदेश देगी तो IAF फिर से बालाकोट आतंकी कैंप पर हमला कर सकती है: चीफ आर के एस भदौरिया दिल्लीः भारतीय वायुसेना की सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में बालाकोट एयर स्ट्राइक से जुड़ा एक वीडियो चलाने को लेकर बवाल खड़ा हो गया. वायुसेना प्रमुख आर के एस भदौरिया के संबोधन से पहले बालाकोट स्ट्राइक से जुड़ा एक वीडियो चलाया गया जिसमें हमले का ग्राफिक वीडियो चलाया गया और आखिर में बालाकोट की ओरिजिनल सैटेलाइट इमेज चलाई गई. लेकिन बाद में आर के एस भदौरिया ने साफ किया कि ये स्ट्राइक का ओरिजनल वीडियो नहीं है. ये एक 'प्रोमोशनल' वीडियो है लेकिन उन्होनें इतना जरूर कहा कि वायुसेना के पास स्ट्राइक से जुड़े सबूत हैं. मीडिया को संबोधित करते हुए आर के एस भदौरिया ने कहा कि सरकार अगर आदेश देगी तो भारतीय वायुसेना एक बार फिर से बालाकोट आतंकी कैंप पर हमला कर सकती है. उऩसे सवाल पूछा गया था कि इस तरह की रिपोर्ट सामने आ रही हैं कि जैश ए मोहम्मद ने एक बार फिर से बालाकोट में आतंकियों की ट्रेनिंग शुरू कर दी है.

आपको बता दें कि पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले में हुए हमले के बाद वायुसेना ने बालाकोट में जैश ए मोहम्मद के आतंकी कैंप पर एयर स्ट्राइक की थी जिसमें माना जाता है कि बड़ी तादाद में आतंकी मारे गए थे. भदौरिया ने इस सवाल पर कि पाकिस्तान में 40 आतंकी कैंप सक्रिय हैं, भदौरिया ने कहा कि हम सरकार द्वारा दी गई किसी भी जिम्मेदारी (यानि आतंकी कैंपों पर एयर स्ट्राइक) के लिए तैयार हैं. चार दिन पहले वायुसेना की कमान संभालने वाले भदौरिया ने पिछले एक साल में वायुसेना की उपलब्धियों में सबसे पहले बालाकोट एयर स्ट्राइक को ही गिनाया. साथ ही उन्होंने बालाकोट एयर स्ट्राइक के अगले दिन (27 फरवरी) पाकिस्तानी वायुसेना से हुई डॉगफाइट का भी जिक्र करते हुए कहा कि भले ही हमारा एक मिग 21 क्रैश हो गया हो लेकिन हमने पाकिस्तान का एक एफ16 मार गिराया था.
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack