Thursday, 17 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

बसंत रामनगीना पीजी कालेज धराव चंदौली ने गाँधी व शास्त्री जी की जयंती पर उनके बारे में विस्तार से बताया

बसंत रामनगीना पीजी कालेज धराव चंदौली ने गाँधी व शास्त्री जी की जयंती पर उनके बारे में विस्तार से बताया
चंदौली: 2 अक्टूबर का दिन भारत के लिए राष्ट्रीय गौरव का दिन है. आज ही के दिन देश की दो बड़ी शख्सियतों का जन्मदिन है. आज जहां राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती है तो वहीं जय जवान जय किसान का नारा देने वाले लोकप्रिय प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की भी जयंती आज ही है. आज ही के दिन साल 1904 में उत्तर प्रदेश के मुगलसराय में उनका जन्म हुआ था. बाद में वह आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के निधन के बाद देश के दूसरे प्रधानमंत्री बने. नेहरू के निधन के बाद प्रधानमंत्री पद की दौड़ में लाल बहादुर शास्त्री और मोरारजी देसाई का नाम सबसे आगे था, लेकिन शास्त्री जी प्रधानमंत्री बने. उनके जिंदगी के कई किस्से प्रचलित है उक्त बाते बसंत रामनगीना पीजी कालेज के प्रबंधक व प्राचार्य ने विस्तृत रूप से प्रकाश डाला। व गाँधी व शास्त्री प्रतिमा पर माल्यार्पण भी किया। 

बसंत रामनगीना पीजी कालेज धराव एक साथ 100 पेड़ लगाने जैसे कार्यो को भी किया है, नारी शशक्तिकरण पर गोष्ठी हो या स्वच्छ भारत अभियान का हिस्सा हो यह महाविद्यालय लगातार अपने अच्छे कार्यो के लिए चर्चा में बना रहता है.और पठन पाठन के साथ महान पुरुषो के जन्मदिन व उनके कार्यो के बारे में समय समय पर गोष्ठी रखकर चर्चा भी करता है.
अन्य खास लोग लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack