Wednesday, 11 December 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

इमरान खान ने PoK के लोगों को उकसाया, कहा- एलओसी पर जाने के लिए तैयार रहें

जनता जनार्दन संवाददाता , Sep 13, 2019, 20:28 pm IST
Keywords: Imran Khan   Pakistan PM Imran   Pak   Loc IMRAN Khan Pak PM   पाकिस्तान के पीएम इमरान खान   
फ़ॉन्ट साइज :
इमरान खान ने PoK के लोगों को उकसाया, कहा- एलओसी पर जाने के लिए तैयार रहें

दिल्ली: बौखलाए पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने आज पीओके का दौरा किया. इमराख ने इस दौरान आग उगला है. उन्होंने पीओके के लोगों को उकसाया और कहा कि वे एलओसी पर जाने के लिए तैयार रहें. इमरान खान ने कहा कि वे खुद लोगों को एलओसी पर जाने की तारीख बताएंगे. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद ये इमरान खान का ये तीसरा पीओके दौरा था.


इमरान खान ने कहा, ''मैंने कश्मीर का राजदूत बनना चुना क्योंकि मैं एक पाकिस्तानी हूं, एक मुस्लिम हूं और इन सभी से ऊपर एक इंसान हूं. यह मानवता का मुद्दा है. कोई भी बहादुर शख्स महिलाओं और बच्चों पर अत्याचार नहीं होने देगा. आप कितना भी क्रूरता क्यों न करें, आप सफल नहीं होंगे. क्योंकि उन्होंने मृत्यु के भय को दूर कर दिया है, आप उन्हें नहीं हरा सकते.''

 

 


अपने भाषण के दौरान इमरान खान ने जहर उगलते हुए मुस्लिम कार्ड भी खेला. इमरान खान ने पीओके के लोगों को उकसाते हुए कहा कि भारत में मुसलमानों को हिंदुओं के बराबर नहीं समझा जाता है. इस दौरान इमरान खान ने आरएसएस का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि आरएसएस के भीतर मुसलमानों के लिए नफरत है.


गौरतलब है कि जब से भारत ने जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधान को खत्म किया है तब से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. वहां के नेता लगातार भड़काउ बयान देते रहे. खुद इमरान खान ने युद्ध की धमकी दी थी लेकिन बाद में उनके तेवर ढीले पड़ गए. एक बार फिर आज इमरान खान ने पीओके के लोगों को उकसाया. पाकिस्तान ने भारत के साथ द्विवक्षीय व्यापार बंद करने सहित कई फैसले बिना सोचे समझे आनन-फानन में ले लिए थे.


बता दें कि पाकिस्तान बार-बार कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता की बात करता है. लेकिन भारत पूरी दुनिया के सामने ये साफ कर चुका है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है. भारत किसी तीसरे की मध्यस्थता को कभी भी स्वीकार नहीं करेगा.

अन्य पास-पड़ोस लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack