Wednesday, 11 December 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

10 बड़े बैंकों को मिलाकर 4 बैंक बनाए जाएंगे: निर्मला सीतरमण

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 30, 2019, 18:51 pm IST
Keywords: GDP   Bank News   देश की अर्थव्यवस्था   वित्त मंत्री निर्मला सीतरमण   प्रेस कॉन्फ्रेंस   अर्थव्यवस्था   
फ़ॉन्ट साइज :
10 बड़े बैंकों को मिलाकर 4 बैंक बनाए जाएंगे: निर्मला सीतरमण

दिल्लीः देश की अर्थव्यवस्था को लेकर चारों तरफ जताई जा रही चिंता से सरकार वाकिफ है और इसी के चलते एक हफ्ते में दूसरी बार इकॉनमी को लेकर सरकार की ओर से स्पष्टीकरण दिया जा रहा है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज घरेलू अर्थव्यवस्था को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और बताया कि देश की इकॉनमी सही हालात में हैं. उन्होंने बैंकों की अच्छी स्थिति के बारे में कहा कि इनके एनपीए (नॉन पफॉर्मिंग ऐसेट) कम हुए हैं और मुनाफा बढ़ा है जो अच्छी खबर है.

इसके अलावा वित्त मंत्री ने बैंकों के लिए एक बड़ा एलान करते हुए कहा है कि 10 बड़े बैंकों को मिलाकर 4 बैंक बनाए जाएंगे और इसके लिए 4 मर्जर किए जाएंगे. पहले मर्जर में पंजाब नेशनल बैंक, यूनाइटेड और ओरिएंटल बैंक का विलय होगा. दूसरे मर्जर में यूनियन बैंक, आंध्र बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक का विलय होगा. तीसरे मर्जर के तहत केनरा बैंक, सिंडिकेट बैंक का विलय होगा और चौथे मर्जर के तहत इंडियन बैंक और इलाहाबाद बैंक का विलय होगा.

वित्त मंत्री ने बताया कि कम समय में लोन रिकवरी बढ़ गई है और कर्ज वसूली रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है. एनपीए में कमी आई है और ये 8.65 लाख करोड़ रुपये से घटकर 7.90 लाख करोड़ रुपये हो गया है यानी अब 7.90 लाख करोड़ का एनपीए बचा है. 2019 में 1 लाख 21 हजार 76 करोड़ की रिकवरी हुई है जो काफी अच्छी कही जा सकती है. इसके अलावा 18 पब्लिक सेक्टर बैंकों में से 14 सरकारी बैंक फायदे में है, बैंकों का मुनाफा बढ़ा है.

भगोड़ों की संपत्ति पर कार्रवाई जारी रहेगी. नीरव मोदी जैसे मामले रोकने के लिए सतर्कता बढ़ाई गई है. बैंकों में कई बड़े सुधार किए गए हैं और इसके अलावा देश में 3 लाख फर्जी कंपनियां बंद की गई है. 250 करोड़ रुपये से ज्यादा के लोन की मॉनिटरिंग के लिए स्पेशलाइज्ड एजेंसियां बनाई गई हैं. वित्त मंत्री बैंकों ने उपभोक्ताओं के हित में घोषणाएं की हैं जिसका फायदा उन्हें जल्द मिलेगा. बैंकों में अच्छे प्रबंधन के लिए काम किए जाएंगे. देश की इकॉनमी को 5 ट्रिलियन की अर्थव्यवस्था बनाने पर काम जारी है.


इसके अलावा वित्त मंत्री ने कहा कि बैंक रिपो रेट से लिंक कर लोन प्रोडक्ट उपलब्ध कराएंगे. अब तक 8 बैंकों ने यह सुविधा लांच की है. लोन लेने की प्रक्रिया को सरल किया जा रहा है. 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था के लिए एक मजबूत बैंकिंग सिस्टम जरूरी है. 3.38 लाख शेल कंपनियां बंद हो चुकी हैं. अर्ली वार्निंग सिग्नल सिस्टम स्पेशलाइज्ड मैकेनिज्म से 250 करोड़ से अधिक के लोन का मॉनिटर किया जा रहा है. लोन मैनेजमेंट सिस्टम रिटेल और एमएसएमई में लागू किया गया और नीरव मोदी जैसे मामले में बैंक फ्रॉड को रोकने के लिए सीबीएस से स्विफ्ट मेसेज को लिंक किया गया.

वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack