Thursday, 21 November 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

भूटान में पीएम मोदी ने किया छात्रों को संबोधित, कहा- परीक्षा में तनाव ना लें

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 18, 2019, 10:51 am IST
Keywords: Modi In Bhutan   PM Modi   Narendra Modi   Prime Minister Modi   प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी   नरेंद्र मोदी  
फ़ॉन्ट साइज :
भूटान में पीएम मोदी ने किया छात्रों को संबोधित, कहा- परीक्षा में तनाव ना लें

थिम्फू: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भूटान दौरे का आज दूसरा दिन है. पीएम मोदी ने आज भूटान की राजधानी थिम्फू में भूटान यूनिवर्सिटी के छात्रों को संबोधित किया. अपने भाषण में पीएम मोदी ने छात्रों को परीक्षा में तनाव ना लेने और आगे बढ़ते रहने के मंत्र दिए. मोदी ने कहा कि आपके पास अतिरिक्त-साधारण चीजें करने की शक्ति और क्षमता है, जो आने वाली पीढ़ियों को प्रभावित करेंगी.

मेरे दिल को छू गई भूटान के पीएम की पोस्ट- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने भूटान के प्रधानमंत्री लोते त्शेरिंग की तरफ से फेसबुक पर लिखी एक पोस्ट का जिक्र करते हुए कहा, ‘’कुछ दिन पहले मेरे अच्छे दोस्त प्रधानमंत्री लोते त्शेरिंग ने एक फेसबुक पोस्ट लिखी, जो मेरे दिल को छू गई. उस पोस्ट में उन्होंने एग्जाम वारियर्स का जिक्र किया था. मैंने एक किताब लिखी थी जिसमें युवाओं को बिना तनाव के परीक्षा का सामना करने की सलाह दी गई थी.’’
पीएम मोदी ने कहा, ‘’परीक्षा वारियर्स में मैंने जो कुछ लिखा है, वह भगवान बुद्ध की शिक्षाओं से प्रभावित है. हमारे सामने चुनौतियां हैं, लेकिन हर चुनौती के लिए हमारे पास उन्हें दूर करने के लिए और समाधान खोजने के लिए युवा दिमाग हैं.’’ उन्होंने कहा, ‘’आपके पास अतिरिक्त-साधारण चीजें करने की शक्ति और क्षमता है, जो आने वाली पीढ़ियों को प्रभावित करेंगी. पूरे जुनून के साथ आगे बढ़िए.’’
संस्कृति और आध्यात्मिक परंपराओं दोनों देशों के बीच गहरे संबंध बनाए- मोदी

पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा, ‘’भूटान और भारत के लोग एक-दूसरे से बहुत लगाव का अनुभव करते हैं. हम सिर्फ अपने भूगोल के कारण करीब नहीं हैं, बल्कि हमारे इतिहास, हमारी संस्कृति और आध्यात्मिक परंपराओं ने हमारे लोगों और दो राष्ट्रों के बीच अनोखे और गहरे बंधन बनाए हैं.’’

पीएम मोदी ने कहा, ‘’आज भारत कई क्षेत्रों में ऐतिहासिक परिवर्तन देख रहा है.  भारत गरीबी को पहले से कहीं ज्यादा तेजी से खत्म कर रहा है. पिछले पांच सालों में बुनियादी ढांचे के निर्माण की गति दोगुनी हो गई है.’’ उन्होंने कहा, ‘’दुनिया का सबसे बड़ा स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम ‘आयुष्मान भारत’ भारत में 50 करोड़ भारतीयों को स्वास्थ्य आश्वासन देता है. भारत में दुनिया की सबसे सस्ती डेटा कनेक्टिविटी है, जो प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लाखों लोगों को सशक्त बना रही है.’’ उन्होंने कहा, ‘’भारत दुनिया के सबसे बड़े स्टार्ट-अप इको-सिस्टम में से एक है.’’

अन्य अंतरराष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack