बिरसा मुंडा ओपेन राष्ट्रीय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप में वसुंधरा ताइक्वांडो अकादमी का परचम

बिरसा मुंडा ओपेन राष्ट्रीय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप में वसुंधरा ताइक्वांडो अकादमी का परचम राँचीः राँची के हरिवंश ताना भगत इंडोर स्टेडियम, हटवार, खेलगाँव में आयोजित प्रथम बिरसा मुंडा ओपेन राष्ट्रीय ताइक्वांडो चैम्पियनशिप 2019 संपन्न हुआ, जिसमें देश के सत्रह राज्यों से कुल 1000 बच्चों ने भाग लिया. इस चैम्पियनशिप में गाजियाबाद से कुल 16 बच्चों ने भाग लिया, जिसमें एक बार फिर गाजियाबाद के वसुंधरा ताइक्वांडो अकादमी ने अपना परचम लहराया.

इस चैम्पियनशिप में सब-जूनियर वर्ग में प्रिंस चौधरी ने भार 35 कि.ग्रा. में ब्रान्ज पदक हासिल किया. अश्विन आनंद ने भार अंदर 38 कि.ग्रा. में सिल्वर पदक हासिल किया. कैडेट वर्ग में भार 65 कि.ग्रा. के अंदर के खिलाड़ी शाश्वत झा ने फिर से अपना जलवा दिखाया, पर इस बार उन्होंने चोट लगने के खतरे को देखते हुए, अपने कोच के निर्देशानुसार फाईनल मैच को 3-0 पर ही छोड़कर, अपनी हार स्वीकार कर ली. सेमीफाइनल और क्वार्टर फाइनल में उन्होंने 18-7 और 14-7 से जीत हासिल की थी, इस तरह सिल्वर पदक को जीत कर अपनी अकादमी का नाम रोशन किया.

इसी वर्ग में भार 45 कि.ग्रा. के अंदर में देव राजपूत के पैर में फैक्चर आने के कारण वह सेमीफाइनल नहीं खेल पाये, और ब्रान्ज से उनको संतोष करना पड़ा. कैडेट बालिका वर्ग में भार ओवर 59 कि.ग्रा. में माही आनंद ने सिल्वर पदक हासिल किया.
जूनियर बालिका वर्ग में तृप्ति विष्ट ने भार 55 कि.ग्रा. में ब्रान्ज जीता, पैर में चोट लगने के कारण वह भी सेमीफाइनल नहीं खेल पायी. सीनियर वर्ग में रिंकू कुमार ने 68 कि.ग्रा. में ब्रान्ज पदक हासिल किया. सारनिक धारा ने पूमसे में ब्रान्ज पदक हासिल किया. टीम के कोच विरेन्द्र सिंह नेगी और टीम के मैनेजर श्याम सिंह रावत दोनों सभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन से काफी खुश हैं.
अन्य खेल- खिलाड़ी लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack