Saturday, 17 August 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

आयुष्मान भारत योजना: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, केजरीवाल जनता का भला नहीं चाहते

जनता जनार्दन संवाददाता , Jun 09, 2019, 9:20 am IST
Keywords: Health MinisterNews   Harsh Vardhan   Delhi Goverment   अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री   स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन  
फ़ॉन्ट साइज :
आयुष्मान भारत योजना: स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, केजरीवाल जनता का भला नहीं चाहते

दिल्ली: केन्द्र और दिल्ली सरकार के बीच आयुष्मान भारत स्वास्थ्य बीमा योजना टकराव का एक नया मुद्दा बन गया है. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को इस मसले पर दो बार खत लिख चुके हैं. वहीं, अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली सरकार की स्वास्थ्य योजना आयुष्मान भारत योजना से 10 गुनी बड़ी और व्यापक है. अपने पत्र में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिल्ली सरकार के इस दावे को खारिज किया है. केन्द्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने इसके साथ ही अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया है कि उनकी दिलचस्पी दिल्ली की जनता के कल्याण में नहीं है.

आयुष्मान भारत योजना लागू करने से केजरीवाल ने किया इनकार

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आयुष्मान भारत योजना को शहर में लागू करने से इनकार कर दिया है. इस मुद्दे पर केन्द्रीय मंत्री के पत्र का जवाब देते हुए सीएम केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने मुफ्त स्वास्थ्य सेवा लागू की है, इसलिए केन्द्र की योजना लागू करने की यहां जरूरत नहीं है. इसपर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने पलटवार करते हुए कहा कि आप सरकार की सभी ‘फैंसी योजनाएं जिसमें ‘यूनीवर्सल कवरेज हेल्थ स्कीम’ भी शामिल है, अभी भी ड्रॉइंग बोर्ड पर पड़ी हुई हैं और यह साढ़े चार साल बाद भी लागू किए जाने के इंतजार में है.

स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन का केजरीवाल पर आरोप 

केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘‘अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री के तौर पर आपका कार्यकाल समाप्त होने वाला है. आगामी विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए आपने एक के बाद एक ऐसी अजीब योजनाएं ला कर लोगों को बेवकूफ बनाना शुरू कर दिया है, जो कभी शुरू ही नहीं होंगी.’’

केंद्रीय मंत्री ने अपने पत्र में लिखा, ‘‘आपके मोहल्ला क्लीनिक बेहद फ्लॉप साबित हुए और दिल्ली के सरकारी अस्पतालों में मरीज की देखभाल का जो हाल है, वह हम सब देख ही रहे हैं.’’ अपने पत्र में केन्द्रीय मंत्री ने आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री आयोग्य योजना के कई फायदे भी गिनाए.

अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack