विकास पूछ रहा है कि बनाना था काशी को क्योटो, 5 साल में मिला सिर्फ टूटो-फूटो: अखिलेश यादव

जनता जनार्दन संवाददाता , May 17, 2019, 11:39 am IST
Keywords: Akhilesh Yadav   Akhilesh Attacks PM   अखिलेश   बीजेपी  
फ़ॉन्ट साइज :
विकास पूछ रहा है कि बनाना था काशी को क्योटो, 5 साल में मिला सिर्फ टूटो-फूटो: अखिलेश यादव दिल्ली: समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने एक बार फिर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. अखिलेश ने ट्वीट कर वाराणसी में चल रहे कार्यों पर तंज कसा. अखिलेश ने ट्वीट कर लिखा, ''‘विकास’ पूछ रहा है- सुनी क्या तुमने बनारस की कहानी, एक बनारसी की ज़ुबानी.‘किसी ने कहा था बनाएंगे क्योटो, पर पांच साल में मिला टूटो-फूटो.’

एक और ट्वीट में अखिलेश ने लिखा, बीजेपी उत्तर प्रदेश हार चुकी है इसलिए ये लोग बंगाल भागकर आखिरी प्रयास कर रहे हैं. मैं बंगाल के लोगों से अपील कर रहा हूं कि आप लोग ममता जी का समर्थन करें. ताकि 23 मई को जब परिणाम आयें तो बीजेपी को छुपने के लिए कहीं जगह न मिले.

कुछ दिन पहले अखिलेश ने एक और फोटो ट्वीट की थी जिसके कैप्शन में उन्होंने लिखा था कि 'जब उन्होंने हमारे जाने के बाद मुख्यमंत्री आवास को गंगाजल से धोया था तब हमने भी तय कर लिया था कि हम उनको पूड़ी खिलाएंगे!' इस तस्वीर में अखिलेश योगी आदित्यनाथ जैसे दिखने वाले एक शख्स के साथ खाना खाते नजर आ रहे हैं. योगी जैसे दिखने वाले इस शख्स का नाम सुरेश ठाकुर है जो पिछले कुछ दिनों से अखिलेश के साथ मंच पर , जनसभाओं में दिखाई दे रहे हैं. मंच पर भगवा कपड़े पहने इस शख्स को देख कर जनता भी कन्फ्यूज हो जाती है.

ऐसा नहीं है कि अखिलेश ने पहली बार इस शख्स के साथ फोटो ट्वीट की है. अखिलेश अपने हर रैली में सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ को निशाने पर ले रहे हैं और जनता से 'ठोकीदार' को हटाने की अपील कर रहे हैं.

 

बता दें कि अखिलेश लगातार बीजेपी पर हमलावर रहे हैं. अखिलेश यादव ने हाल ही में कहा था कि बीजेपी के लोगों ने जनता को धोखा दिया है और उसकी नींव झूठ और नफरत पर टिकी है.

 

अखिलेश ने एक चुनावी सभा में कहा, 'बीजेपी ने वादा किया था कि एक करोड़ लोगों को नौकरी दी जाएगी लेकिन वर्तमान सरकार ने जो फैसले लिए हैं, आज रोजगार किसी के भी हाथ में नहीं है.'

 

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने धोखा दिया है. उनकी नींव झूठ और नफरत पर टिकी है और इस बार इस गठबंधन ने तय किया है कि नफरत की दीवारों को गिराकर इनका सफाया करने का काम आने वाले दिनों में भी किया जाएगा.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack