लोकसभा चुनाव 2019: सीएम कमलनाथ बोले-साध्वी प्रज्ञा को टिकट देना बीजेपी का दिवालियापन?

लोकसभा चुनाव 2019: सीएम कमलनाथ बोले-साध्वी प्रज्ञा को टिकट देना बीजेपी का दिवालियापन?

दिल्लीः साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को बीजेपी में शामिल कर भोपाल से लोकसभा प्रत्याशी बनाये जाने के मुद्दे पर मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने अपनी प्रतिक्रिया दी है. छिंदवाड़ा में सीएम कमलनाथ ने कहा कि पहले तो बीजेपी को वहां से कैंडिडेट नही मिला और अभी शामिल हुई साध्वी प्रज्ञा को उन्होंने अपना प्रत्याशी बना लिया है. ये बीजेपी का दिवालियापन दर्शाता है.

बीजेपी ने लम्बे इंतजार के बाद आखिरकार बुधवार को भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के खिलाफ 2008 के मालेगांव विस्फोट मामलों की आरोपी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया. साल 2008 में मालेगांव बम विस्फोट मामले में प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ यूएपीए एक्ट के तहत मामला अदालत में विचाराधीन है.

बीजेपी की केन्द्रीय चुनाव समिति ने साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को भोपाल लोकसभा सीट से दल का उम्मीदवार घोषित किया है. संघ परिवार का लगातार विरोध करने के कारण बीजेपी दिग्विजय के खिलाफ भोपाल से किसी कट्टर हिन्दू छवि वाले नेता को चुनाव मैदान में उतारना चाहती थी. इस कारण साध्वी उमा भारती और साध्वी प्रज्ञा सिंह को बीजेपी उम्मीदवार के तौर पर भोपाल के चुनावी मैदान में उतारने के लिये कुछ समय से मंथन चल रहा था. फायर ब्रांड साध्वी प्रज्ञा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद एबीवीपी की नेता और विश्व हिन्दू परिषद की महिला शाखा दुर्गा वाहिनी में भी सक्रिय रही हैं और अपने तीखे भाषणों के लिये जानी जाती हैं.

भोपाल सीट
भोपाल लोकसभा सीट पर 12 मई को मतदान होना है. भोपाल लोकसभा सीट बीजेपी का गढ़ मानी जाती है और इस सीट पर बीजेपी का लगभग तीन दशक से कब्जा है. भोपाल लोकसभा सीट में कुल 18 लाख मतदाता हैं और इसमें 4.5 लाख मतदाता मुस्लिम हैं. मुस्लिम मतदाताओं के कांग्रेस की ओर रुझान के चलते बीजेपी ने लम्बे मंथन के बाद संघ की पसंद और कट्टर हिन्दूवादी चेहरा साध्वी प्रज्ञा सिंह को अपना उम्मीदवार बनाया है. भोपाल लोकसभा सीट में आठ विधानसभा क्षेत्र बैरसिया, भोपाल उत्तर, नरेला, भोपाल दक्षिण-पश्चिम, भोपाल मध्य, गोविंदपुरा, हुजूर और सीहोर शामिल है.

प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कहा था कि संगठन बीजेपी ने यदि कहा तो वह दिग्विजय सिंह के खिलाफ चुनाव में उतरने के लिये तैयार हैं. उन्होंने कहा था, ‘दिग्विजय हिन्दू विरोधी नेता हैं और उन्होंने हिन्दुओं को आतंकवादी कहा था.’ प्रज्ञा ने बताया कि वह मध्य प्रदेश के भिण्ड जिले के लहार में जन्मी और पली, बढ़ी हैं और इतिहास विषय में स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की है.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack