Wednesday, 16 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

कांग्रेस का नारा- गरीबी पर वार, 72 हजार; राहुल गांधी ने 'जन आवाज घोषणापत्र' किया जारी

कांग्रेस का नारा- गरीबी पर वार, 72 हजार; राहुल गांधी ने 'जन आवाज घोषणापत्र' किया जारी नई दिल्लीः कांग्रेस ने गरीबों का आमजनों का घोषणापत्र जारी कर दिया है. लोकसभा चुनाव 2019 में सत्ता की बागडोर अपने हाथ में थामने के लिए सभी राजनीतिक पार्टियों में सियासी होड़ जारी है. मोदी सरकार यानी बीजेपी को केंद्र से हटाने के लिए कांग्रेस चुनाव से पहले ही लगातार वादों के फेहरिस्त लगा चुकी है. मगर आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र  जारी किया.

बता दें कि 11 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होना है. ऐसे में पीएम नरेंद्र मोदी   से लेकर राहुल गांधी तक सभी ताबड़तोड़ प्रचार में जुटे हुए हैं. सभी राजनीतिक पार्टियां जनता को लुभाने की कोशिश में लगी हुई हैं. बीजेपी को हराने के लिए और सत्ता में वापसी की उम्मीद से राहुल गांधी ने मंगलवार की दोपहर कांग्रेस का घोषणापत्र जारी किया, जिसमें कई अहम वादों की फेहरिस्त है. इस मौके पर सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, कांग्रेस की घोषणापत्र समिति के अध्यक्ष पी चिदंबरम और दूसरे वरिष्ठ नेताओं के मौजूद हैं.

- आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के साथ गठबंधन के सवाल पर राहुल गांधी ने स्पष्ट जवाब देने से इनकार कर दिया.

- सवाल: पीएम मोदी के भाषण में बार-बार हिंदू शब्द आया, तो आप हिंदू और राष्ट्रवाद को कैसे काउंटर करेंगे?

राहुल गांधी का जवाब: सबलोग हिंदू हैं, मगर देश में रोजगार देने की जरूरत है, महिलाओं की देख भाल करने की जरूरत है, उन्हें आरक्षण देने की जरूरत है, न्याय देने की जरूरत है. नरेंद्र मोदी सच्चा से भाग रहे हैं. भ्रष्टाचार पर मुझसे नरेंद्र मोदी बहस करें, विदेश नीति पर, राष्ट्रीय सुरक्षा पर मुझसे बहस करें, मैं पीएम मोदी को चुनौती देता हूं. आप पीएम मोदी से क्यों नहीं पूछते हैं कि आप प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों नहीं करते हैं? आखिर पीएम मोदी  हिंदुस्तान की जनता से क्यों डरते हैं, मीडिया से क्यों डरते हैं?

-न्याय योजना को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि बीजेपी ने कहा था कि किसान का कर्जा माफ करना नहीं हो सकता, मगर मैं कहता हूं कि यह बीजेपी के लिए संभव नहीं है, मगर यह कांग्रेस के लिए संभव है. आप हम पर भरोसा कीजिए, हम करके दिखाएंगे. मैं 15 लाख का वादा नहीं करूंगा, मगर मैं 72 हजार देकर दिखाऊंगा.

-गब्बर सिंह टैक्स को हम जीएसटी में बदलेंगे. पांच टैक्स को हम सिंपल करेंगे और सरल सिस्टम होगा.: राहुल गांधी

- चौकीदार छुप सकता है, मगर भाग नहीं सकता है: राहुल गांधी

-बीजेपी अगर पूंजीपतियों को पैसे दे सकती है तो कांग्रेस पार्टी भी गरीबों को 72 हजार दे सकती है. इसका झटका लगा है पीएम मोदी को. पीएम मोदी इसी वजह किसी -किसी वजह से छुप रहे हैं. मगर पीएम मोदी देश की सच्चाई से छुप नहीं सकते. यह देश की सच्चाई है कि देश का किसान आत्म हत्या कर रहा है, नरेंद्र मोदी ने अच्छे दिन का वादा किया था, मगर पीएम मोदी ने चोरी करवाई है. यह देश का नैरेटिव है.

-एक पत्रकार ने पूछा कि क्या हम कांग्रेस पार्टी के नए प्रधानमंत्री के उम्मीदवार के तौर पर राहुल गांधी से बात कर रहे हैं? के सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि यह देश के लोगों को सोचना है. यह मेरे हाथ में नहीं.

-एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि मुख्य मुद्दा देश में आज रोगगार का है और किसानों की समस्या का है. अर्थव्यवस्था पूरी तरह से अटकी हुई है. उसे फिर से चालू करना, उसमें जीएसटी का मामला है, न्याय का मामला है, ये हमारी प्राथमिकता है.

कांग्रेस के घोषणापत्र अहम बातें:

-राहुल गांधी ने कहा कि हम हेल्थ सिस्टम ठीक करेंगे.

- राहुल गांधी ने कहा कि जीडीपी का 6 प्रतिशत पैसे हिंदुस्तान की शिक्षा में दिया जाएगा. बेहतर संस्थानों, स्कूलों तक सबकी पहुंच हो, इसके लिए हम यह ऐलान कर रहे हैं.

- राहुल गांधी ने कहा कि अगर किसान कर्जा न दे पाए तो वह क्रिमिनल ऑफेंस न हो, सिविल ऑफेंस हो. यह ऐतिहासिक निर्णय है.

- राहुल गांधी ने कहा कि हमारे घोषणा पत्र में पांच बड़े थीम हैं.

राहुल गांधी ने दिया नारा- गरीबी पर वार, 72 हजार: यह कांग्रेस का पहला वादा है, जिसके अनुसार कांग्रेस पार्टी हर साल गरीबों को 72 हजार रुपये देगी. किसानों और गरीबों के जेब में पहली बार डायरेक्ट पैसा जाएगा.

रोजगार और किसान: देश में युवाओं को रोजगार नहीं मिल रहा है. मुझे मैनिफेस्टो कमेटी ने बताया कि 22 लाख सरकारी रोजगार खाली पड़े हैं, उसे कांग्रेस मार्च 2020 तक भर कर देगी. दस लाख युवाओं को ग्राम पंचायत में रोजगार दिया जा सकता है, उसे कांग्रेस पार्टी देगी. उद्यम के लिए भी कांग्रेस पार्टी ने एक आइडिया निकाला है.

-तीन साल तक हिंदुस्तान के युवाओं को बिजनेस खोलने के लिए किसी की अनुमति की जरूरूत नहीं.

-कांग्रेस मनरेगा के तहत अब 150 दिन के रोजगार की गांरटी देगी.

-किसानों के लिए अलग से बजट होना चाहिए.

- राहुल गांधी ने कहा कि मनमोहन सिंह ने इस घोषणा पत्र में अपनी विशेषज्ञता शामिल की. सोनिया गांधी ने अपने विचार दिए.

- राहुल गांधी ने कहा कि हमारे  'जन आवाज घोषणापत्र' में एक भी झूठ नहीं है, क्योंकि हम हर दिन पीएम मोदी से झूठ सुनते रहते हैं. इसलिए हम झूठे वादे नहीं करेंगे. हमारी घोषणापत्र समिति ने काफी अच्छे से काम किया है.

- राहुल गांधी ने कांग्रेस का 'जन आवाज घोषणापत्र' जारी किया. इस दौरान कांग्रेस के दिग्गज नेता मौजूद दिखे.

- कांग्रेस के घोषणा पत्र में बेरोजगारी और किसान के मुद्दे प्राथमिक तौर पर हैं.

- पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने कहा कि आज का दिन हमारे लिए ऐतिहासिक दिन है, लोगों की उम्मीद और भविष्य से जुड़ा घोषणापत्र जारी किया जा रहा है. इसे कई लोगों से चर्चा कर तैयार किया जा रहा है. इस मेनिफेस्टो का उद्देश्य गरीबों के लिए काम करना है.

- पी चिदंबरम ने कहा कि अभी देश में किसानों की हत्या, बेरोजगारी, महिला सुरक्षा जैसे मुद्दे हैं. हम इन मुद्दों को अड्रेस करने की कोशिश करेंगे.

- पी चिदंबरम ने इस मौके पर कहा कि घोषणा पत्र में लाखों-करोड़ों लोगों की आवाज है. कुछ पाराग्राफ ऐसे हैं, जो भारत के नागरिकों द्वारा लिखे गए हैं.

-कांग्रेस के घोषणा पत्र को 'जन आवाज घोषणापत्र' नाम दिया गया है. घोषणा पत्र कमेटी के सदस्य राजीव गौड़ा ने कहा कि कि राहुल गांधी चाहते थे कि इस बार का घोषणापत्र कुछ अलग हो. जो ना सिर्फ पार्टी के इतिहास बल्कि देश में भी अलग हो. इसके लिए हमने देश के आम लोगों से बात की. हर क्षेत्र के विशेषज्ञों से बात की. हमने ऑनलाइन राय भी ली.

- कांग्रेस का दावा है कि घोषणा पत्र जनता की आवाज बनेगा.

- कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस का घोषणा पत्र विकसित भारत का बुनियाद होगा.

- राहुल गांधी कांग्रेस मुख्यालय पहुंच चुके हैं और उनके साथ सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह भी मौजूद हैं.

99aqjmegमंच पर मौजूद राहुल गांधी समेत कांग्रेस के दिग्गज नेता

-बताया जा रहा है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी मुख्यालय पहुंच चुकी हैं. साथ ही इस दौरान पी. चिदंबरम, रणदीप सुरजेवाला, एके एंटनी समेत कई दिग्गज कांग्रेस मुख्यालय में मौजूद हैं.

- बताया जा रहा है कि घोषणा पत्र जारी करने के दौरान सोनिया गांधी, मनमोहन सिंह, पी चिदंबरम समेत कांग्रेस के तमाम दिग्गज नेता मौजूद रहेंगे.

- कुछ देर में राहुल गांधी जारी करेंगे कांग्रेस का घोषणा पत्र.

-राहुल गांधी चुनाव से पहले न्याय योजना और 22 लाख भर्तियों का वादा कर चुके हैं.

- कांग्रेस के घोषणापत्र से जुड़ी समिती के सदस्य और कांग्रेस नेता बालचंद्र मुंगेकर ने कहा कि जह हमारी सरकार सत्ता में आएगी तो हम पहले दिन ही राफेल डील की जांच करेंगे.



-लोकसभा चुनाव में बीजेपी से सत्ता वापस पाने के लिए कांग्रेस आज अपना घोषणा पत्र जारी करेगी. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी दफ्तर में कांग्रेस का घोषणापत्र जारी करेंगे और चुनाव के मद्देनजर अपने मुद्दे सबके सामने रखेंगे.

सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस के घोषणा पत्र में ‘न्याय' योजना के तहत गरीबों को 72,000 रुपये सालाना देने के वादे के साथ-साथ कुछ अन्य अहम वादों को भी जगह मिल सकती हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कुछ दिनों पहले ऐलान किया था कि उनकी पार्टी सत्ता में आई तो गरीबी हटाने के लिए  न्यूनतम आय योजना  शुरू की जाएगी. इसके तहत देश के पांच करोड़ सबसे गरीब परिवारों को प्रति माह 6,000 रुपये दिए जाएंगे.

इसके अलावा राहुल गांधी ने स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में बजट बढ़ाने का वादा किया है. पार्टी इस बार किसानों के लिए कर्जमाफी की घोषणा करने के साथ ही स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के मुताबिक, न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करने का वादा कर सकती है. कांग्रेस के अन्य वादों में सबके लिए स्वास्थ्य सेवा का अधिकार, अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों और अन्य पिछड़ा वर्ग के बेघर लोगों को जमीन का अधिकार, पदोन्नति में आरक्षण के लिए संविधान में संशोधन करना और महिला आरक्षण विधेयक को पारित करना आदि शामिल हैं.
अन्य राजनीतिक दल लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack