Saturday, 23 March 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

लोकसभा चुनाव 2019: 70 दिन में नई सरकार, पहले 3 हफ्ते में ही तय हो जाएगा सत्ता का रास्ता

जनता जनार्दन संवाददाता , Mar 11, 2019, 11:58 am IST
Keywords: Loksabha Poll 2019   Upcoming Loksabha Election   Loksabha 2019   Election 2019   लोकसभा चुनाव 2019  
फ़ॉन्ट साइज :
लोकसभा चुनाव 2019: 70 दिन में नई सरकार, पहले 3 हफ्ते में ही तय हो जाएगा सत्ता का रास्ता

दिल्ली: केंद्रीय चुनाव आयोग ने बहुप्रतीक्षित 2019 लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है. देश की सभी 543 लोकसभा सीटों पर सात चरण में मतदान कराया जाएगा. 11 अप्रैल से शुरू होने वाली पहले चरण की वोटिंग के बाद आखिरी चरण के तहत 19 मई को मतदान कराया जाएगा. इसके बाद 23 मई को मतगणना होगी. दिलचस्प बात ये है कि तीन सप्ताह से कम वक्त में ही शुरुआती चार चरण में 543 में से 350 से ज्यादा सीटों पर वोटिंग करा ली जाएगी.

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने चुनाव की घोषणा करते हुए बताया कि देश के ज्यादातर राज्यों में एक ही चरण में चुनाव कराए जाएंगे, इनमें संघशासित प्रदेश भी शामिल हैं. देश के 22 राज्य ऐसे हैं, जहां एक ही चरण में चुनाव होंगे. जबकि चार राज्यों में दो चरण में वोटिंग होगी. इनके अलावा दो राज्यों में तीन चरण, चार राज्यों में 4 चरणों में वोटिंग होगी.

पहला चरण: 20 राज्यों की 91 सीटों पर वोटिंग

पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को मतदान कराया जाएगा. इस चरण में 91 सीटों पर मतदान होगा. पहले चरण में आंध्र प्रदेश की 25, अरुणाचल प्रदेश की 2, असम की 5, बिहार की 4, छत्तीसगढ़ की 1, जम्मू-कश्मीर की 2, महाराष्ट्र की 7, मणिपुर की 1, मेघालय की 2, मिजोरम की 1, नगालैंड की 1, ओडिशा की 4, सिक्किम की 1, तेलंगाना की 17, त्रिपुरा की 1, यूपी की 8, उत्तराखंड की 5, पश्चिम बंगाल की 2, अंडमान-निकोबार की 1 और लक्षद्वीप की 1 सीट पर मतदान कराया जाएगा. इस लिहाज से पहले चरण के तहत 20 राज्यों की 91 सीटों पर वोटिंग होगी.

दूसरा चरण: 13 राज्यों की 97 सीटों पर वोटिंग

11 अप्रैल को पहला चरण पूरा होने के बाद दूसरे चरण के लिए 18 अप्रैल को वोटिंग होगी. इसके तहत असम की 5, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 3, जम्मू-कश्मीर की 2, कर्नाटक की 14, महाराष्ट्र की 10, मणिपुर की 1, ओडिशा की 5, तमिलनाडु की 39, त्रिपुरा की 1, यूपी की 8, पश्चिम बंगाल की 3 और पुडुचेरी की 1 सीट पर मतदान होगा. यानी दूसरे चरण में 13 राज्यों की 97 सीटों मतदान कराया जाएगा.

 

तीसरा चरण: 14 राज्यों की 115 सीटों पर वोटिंग

इस चरण में गुजरात, केरल, कर्नाटक और महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्यों की अधिकतर सीटों पर चुनाव हो जाएंगे. 23 अप्रैल को होने वाले इस फेज में असम की 4, बिहार की 5, छत्तीसगढ़ की 7, गोवा की 2, गुजरात की 26, जम्मू-कश्मीर की 1, कर्नाटक की 14, केरल की 20, महाराष्ट्र की 14, ओडिशा की 6, यूपी की 10, पश्चिम बंगाल की 5, दादर एवं नागर हवेली की 1 व दमन व दीव की 1 सीट पर मतदान होगा.

चौथा चरण: 9 राज्यों की 71 सीटों पर वोटिंग

अप्रैल महीने के आखिर में ही चौथा चरण भी पूरा हो जाएगा. 29 अप्रैल को 9 राज्यों की 71 सीटों पर मतदान करा लिया जाएगा. इस चरण में बिहार की 5, जम्मू कश्मीर की 1, झारखंड की 3, एमपी की 6, महाराष्ट्र की 17, ओडिशा की 6, राजस्थान की 13, यूपी की 13, बंगाल की 8 सीटों पर मतदान होगा.

यानी 11 अप्रैल से लेकर 29 अप्रैल तक 19 दिन के अंदर चार चरण के दौरान ही देश की कुल 543 लोकसभा सीटों में से 374 सीटों पर मतदान करा लिया जाएगा. खास बात ये है कि इन चार चरणों में दक्षिण भारत और उत्तर-पूर्व के सभी राज्यों में चुनाव पूरे हो जाएंगे. साथ ही गुजरात और महाराष्ट्र जैसे अहम और बड़े राज्यों में भी इन चार चरण के अंदर ही मतदान हो जाएगा. जबकि दिल्ली का रास्ता तय करने में अहम भूमिका निभाने वाले यूपी, बिहार और बंगाल में आखिरी चरण तक चुनाव जाएगा.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack