Saturday, 23 March 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अडानी ग्रुप को लगा बड़ा झटका, नेचुरल गैस के लिए लाइसेंस आवेदन रद्द

जनता जनार्दन संवाददाता , Mar 04, 2019, 18:30 pm IST
Keywords: adani   adani group   adani india   aani grop   adani india   अडानी ग्रुप  
फ़ॉन्ट साइज :
अडानी ग्रुप को लगा बड़ा झटका, नेचुरल गैस के लिए लाइसेंस आवेदन रद्द

दिल्‍ली: हाल ही में एविएशन सेक्‍टर में एंट्री करने वाले अडानी ग्रुप को बड़ा झटका लगा है. दरअसल, जयपुर और उदयपुर में सीएनजी व नेचुरल गैस के लिए अडानी ग्रुप के लाइसेंस आवेदन को रद्द कर दिया गया है. जानकारी के मुताबिक कंपनी ने लाइसेंस के लिए जरूरी नियमन का अनुपालन नहीं करती है. बता दें कि हाल ही में 50 साल के लिए देश के 6 एयरपोर्ट का कॉन्‍ट्रैक्‍ट अडानी ग्रुप को मिला है.

अडानी ग्रुप ने यह आवेदन सीएनजी की खुदरा बिक्री और घरों में पाइप के जरिये प्राकृतिक गैस की आपूर्ति के लिए किया था. पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस विनियामक बोर्ड (पीएनजीआरबी) ने इसे रद्द करते हुए कहा कि कंपनी का आवेदन एक लाइसेंस के लिये जरूरी नियमन का अनुपालन नहीं करती है.बोर्ड ने कहा कि अडाणी गैस न्यूनतम पात्रता की शर्तों पर खरा उतरती है लेकिन उसने निवेश प्रतिबद्धता और दोनों शहरों ( जयपुर-उदयपुर ) में शहरी गैस वितरण (सीजीडी) नेटवर्क के विस्तार की जरूरतों को पूरा नहीं किया है.

ग्रुप को 6 एयरपोर्ट का मिला है कॉन्‍ट्रैक्‍ट

अडानी ग्रुप को हाल ही में देश के 6 एयरपोर्ट को ऑपरेट करने के लिए 50 साल का कॉन्‍ट्रैक्‍ट मिला है.जो 6 एयरपोर्ट अडानी ग्रुप के पास होंगे वो- लखनऊ, जयपुर, अहमदाबाद, मेंगलुरु, गुवाहाटी और त्रिवेंद्रम हैं. बता दें कि 2018 में केंद्र सरकार ने AAI संचालित 6 एयरपोर्ट के पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप (PPP) आधार पर प्रबंधन के लिए एक प्रस्ताव को मंजूरी दी थी.

किस एयरपोर्ट के लिए कितनी बोली

अडानी ग्रुप ने अहमदाबाद एयरपोर्ट  के लिए सबसे ज्‍यादा 177 रुपये प्रति यात्री शुल्क की बोली लगाई थी.वहीं जयपुर एयरपोर्ट के लिए 174 रुपये और लखनऊ एयरपोर्ट 171 रुपये प्रति यात्री शुल्क की बोली लगाई गई थी. जबकि त्रिवेंद्रम एयरपोर्ट 168 रुपये और गुवाहटी एयरपोर्ट 160 रुपये प्रति यात्री शुल्‍क बोली लगाई गई. मेंगलुरु एयरपोर्ट के लिए अडानी ग्रुप ने 115 रुपये प्रति यात्री बोली लगाई थी. 

अन्य व्यापार लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack