Monday, 21 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

अभिनन्दन को कोटिशः वंदन, हमारी सेना सबसे सुपर सबसे ऊपर

अमित मौर्य , Feb 28, 2019, 10:04 am IST
Keywords: Abhinandan   Army   Indian Navy Officer   Pakistan Custody   Abhinandan   #अभिनन्दन  
फ़ॉन्ट साइज :
अभिनन्दन को कोटिशः वंदन, हमारी सेना सबसे सुपर सबसे ऊपर
पाकिस्तान पोषित प्रायोजित आतंकवाद और पुलवामा आतंकी हमले के बाद  हमारी वायुसेना ने पाकिस्तान को सबक देने के लिए मंगलवार को तड़के तीन बजे पाकिस्तान के अंदर घुस कर आतंकियों के अड्डों पर बम बरसा कर उनके कैम्पो को तबाह कर वापस लौट आयी,वायुसेना(airforce) के इस अदम्य साहस को जानकार देश के हर नागरिक की छाती चौड़ी हो गयी.आतंकी हमले के बाद गम,गुस्से और इंतकाम की आग में जल रहे भारत के हर शख्स के लिए यह खबर उल्लास भरा रहा,पूरा देश लगभग पूरी मीडिया पक्ष विपक्ष सेना और देश के साथ खड़ा दिखा.
 
हम हमारी वायुसेना द्वारा आतंक की फैक्ट्री पर हमले का जश्न ही मना ही रहे थें की पाकिस्तान आर्मी द्वारा एक वीडियो जारी होता है जिसमें हमारे वायुसेना के जवान विंग कमांडर अभिनन्दन पाकिस्तानी आर्मी के गिरफ्तार में दिखाई देते हैं.आंखों पर पाकिस्तानी आर्मी द्वारा बांधी गयी काली पट्टी,चेहरे पर सुख चुके खून, कनपटी तक तनी हुई मूछें तनी हुई गर्दन वहां की आर्मी ऑफीसरों के प्रश्नों सधा नपा तुला जवाब.

कोई भय नही आवाज में कोई कम्पन नही हालांकि अपने मुल्क के हीरे जैसे जवान विंग कमांडर अभिनन्दन को इस हाल में देख कर मेरे होंठ थरथरा रहें थें,आंखों के कोरों पर अटकी दो बूंदे ढलक कर गालों पर फैल गईं थीं ,मगर मन फक्र से ऊंचा था मेरा सर मेरा शरीर आत्मिक तौर पर अभिनन्दन को वंदन कर रहा था.
 
और साथ ही यह दुआ भी की हमारा भाई अभिनंदन जल्द से जल्द शही सलामत अपने देश वापस आयें,क्योंकि जब हमारी यह हालत है तो वीर अभिनन्दन के परिवार की क्या स्तिथि  होगी.?
 
पाकिस्तान द्वारा जारी विंग कमांडर अभिनंदन का वीडियो देखने के बाद शायद ही कोई ऐसा सख्श हो जिसके अंदर पाकिस्तानी के प्रति क्रोध की ज्वाला न धधकी हो, मगर हम इस समय सिवाय सरकार के अगले कदम और जेनेवा संधि का पालन पाकिस्तान  करे यही उम्मीद ही कर सकते हैं।
 
वहीं दूसरी तरफ युद्धोन्मादी टिक टकिया छाप लवंडे सुबह से शाम फेसबुक पर युद्ध पर युद्ध रेले जा रहे हैं।
उन्हें क्या पता कि वायुसेना के जवान जब हवाई हमले के लिए उड़ान भरते हैं, तो उनकी आँखों में देश की आन बान शान और वतन के रक्षा की प्रतिबद्धता लबा-लबा रहती है।

मगर साथ ही यह भी सोच भी जरूर उमड़ता घुमड़ता होगा कि जा तो रहा हूँ मगर वापसी की कोई गारंटी नही,क्योंकि दुश्मन देश में घुसकर उसके आतंकी कैम्पो पर हमला करना और सही सलामत वापसी करना इतना आसान नही।
फिलहाल यही दुआ है कि हमारा वीर हमारा हीरो अभिनंदन वापस आ जाये।।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
 
stack