सेना ने धमाके से उड़ाई बिल्डिंग

जनता जनार्दन संवाददाता , Feb 18, 2019, 11:04 am IST
Keywords: Terrorist Attack   Jammu And Kashmir Attack   Jammu Attack   CRPF Attack   Opration Terrorist   सेना ने धमाके   
फ़ॉन्ट साइज :
सेना ने धमाके से उड़ाई बिल्डिंग

जम्मू: कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद आज एक बार फिर बड़ा एनकाउंटर हुआ है. पुलवामा के ही पिंगलिना में हुई इस मुठभेड़ में सेना के 4 जवान शहीद हुए हैं. सुरक्षाबलों ने भी जैश-ए-कमांडर के दो कमांडरों को मौत के घाट उतार दिया है. उम्मीद जताई जा रही है कि ये दोनों आतंकी कामरान और गाजी राशिद हैं, जिन्होंने पुलवामा में हुए आतंकी हमले की साजिश रची थी.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से ही देश गुस्से में है. सरकार की ओर से खुली छूट मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने घाटी में आतंकियों के खिलाफ एक्शन शुरू किया है. सोमवार सुबह पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन छेड़ दिया है, इस एनकाउंटर में 2-3 आतंकियों को घेरा गया था. एनकाउंटर के मद्देनजर पूरे क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया गया है.

इस एनकाउंटर में जैश-ए-मोहम्मद का टॉप कमांडर कामरान भी घिरा था, कामरान कई हमलों का मास्टरमांइड रह चुका है, जिसमें हाल ही में हुआ पुलवामा आतंकी हमला भी शामिल है. इस बीच दिल्ली के गृह मंत्रालय में बड़ी बैठक चल रही है.

पिछले तीन घंटे से फायरिंग रुकी हुई थी, लेकिन फिर शुरू हुई और आतंकियों को ढेर कर दिया गया. हालांकि सर्च ऑपरेशन जारी है. ये ऑपरेशन देर रात 12 बजे से चल रहा था, पूरी रात दोनों तरफ से गोलीबारी हुई. इलाके को घेर कर गांव वालों को बाहर निकाला जा रहा है.

देर रात को इस ऑपरेशन को 55RR, CRPF और SOG के जवानों ने मिलकर चलाया. पुख्ता जानकारी मिलने के बाद ही सुरक्षाबलों ने इस ऑपरेशन को शुरू किया. जो जवान इस मुठभेड़ में शहीद हुए हैं उनमें मेजर डीएस डोंडियाल, हेड कॉन्स्टेबल सेवा राम, सिपाही अजय कुमार और सिपाही हरी सिंह शामिल हैं. एक जवान घायल है जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है. 

बताया जा रहा है कि जो आतंकी घिरे हैं वह भी जैश-ए-मोहम्मद के ही हैं. ये सभी आदिल अहमद डार के साथी ही हैं. इस एनकाउंटर में एक स्थानीय नागरिक की मौत हो गई है. इलाके को चारों ओर से घेर लिया गया है.

ये एनकाउंटर सोमवार तड़के शुरू हुआ. एनकाउंटर में घायल हुए जवानों को एनकाउंटर वाले इलाके से निकाल कर श्रीनगर आर्मी हॉस्पिटल में भर्ती करा दिया गया था, लेकिन वहां पर उनकी मौत हो गई. एहतियात के तौर पर पुलवामा जिले में इंटरनेट बंद कर दिया है.

अन्य सुरक्षा लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack